सरकार बच गई लेकिन संकट अब भी बरकरार

बच गई सुक्खू सरकार या फिर संकट बरकरार
हिमाचल में नया ट्विस्ट राजा बागी खेमे
में

शिफ्ट हिमाचल की विसात किसकी शह किसकी मात
हिमाचल में खड़ा हुआ सियासी संकट अभी शांत
होता नहीं दिख रहा है शिमला में कांग्रेस

पर्यवेक्षक ने कह तो दिया सब ठीक है लेकिन
उनके इस बयान पर विक्रमादित्य के अगले कदम
ने सवाल या निशान लगा दिया विक्रमादित्य
ने छह बागी विधायकों से चंडीगढ़ में
मुलाकात की

वही अपने फसु प्रोफाइल में अपने आप को
जनता का सेवक बताया है बागियों से मुलाकात
के मामले में जब उनकी मां प्रतिभा सिंह से
सवाल किया गया तो उन्होंने इस मामले में

कोई भी जानकारी होने से मना कर दिया
विक्रमादित्य साहब की मुलाकात उन छ एमएलए
से हुई है इसमें कितनी सच्चाई है क्या वो
मिले हैं मुझे बिल्कुल भी इसके बारे में

ना आईडिया है आप सभी जानते हैं कि कल रात
तक तो वोह यहां था अब क्या आगे उसने
निर्णय किया कहां गया है मुझे उसका कोई
अनुमान नहीं है तो आई कैन नॉट से कि उसकी
बात हुई या नहीं हुई प्रतिभा सिंह से

हिमाचल की सरकार के बारे में जब सवाल किया
गया तो उन्होंने क्या कहा सुनिए बोल ग पा
साल तक सुख साब सीएम रहेंगे चलो ऑब्जर्वर
के बोलने से क्या है ऑब्जर्वर तो चाहते
हैं ऐसा हो अब लोग क्या चाहते हैं क्या

होगा उस परे बोलना अभी बहुत कठिन यही नहीं
प्रतिभा सिंह तो बीजेपी के काम करने के
तरीके को कांग्रेस से बेहतर बता रही है
कांग्रेस में अभी कुछ करने को हमार को
बाकी है यह बात सही है कि भाजपा की
वर्किंग हमारे से बेहतर है विधानसभा चुनाव
प्रतिभा सिंह के बयान के बारे में

कांग्रेस नेता भूपेंद्र हुड्डा से जब सवाल
किया गया तो उन्होंने क्या कहा
सुनिए जी हमारी वरिष्ठ नेता है सा पार्टी
के अध्यक्ष पार्टी के

अध्यक्ष लेकिन उनका ये कहना कि बीजेपी का
उनसे पूछो हिमाचल प्रदेश में हुए राज्यसभा
चुनाव के बाद से ही कांग्रेस में फूट की
बात सामने आ रही है सरकार में बगावत की
सुगबुगाहट के बीच सीएम सुखविंद्र सिंह
दावा कर रहे हैं कि सरकार पूरे 5 साल

चलेगी जयाराम ठाकुर जिस दिन से मैं
मुख्यमंत्री बन रहा हूं उस दिन से ऑपरेशन
लोटे से करने लगे हुए हैं अब उनको थोड़ी
सफलता मिली है तो उनको कुर्सी नजर आ रही
सत्ता की इतनी ज्यादा भूख नहीं होनी चाहिए

5 साल हम कांग्रेस की सरकार को जनता ने
चुनकर भेजा है लोगों की समस्याओं का
समाधान करने के लिए भेजा है और निश्चित
तौर पर हमारी सरकार पा साल र

धन्यवाद सुख साहब बीजेपी पर ऑपरेशन चलाने
का आरोप लगा रहे हैं तो वहीं बीजेपी सरकार
के काम पर सवाल उठा रही है मेरे हिसाब से
तो

सरकार रहेगी तो चलेगी नहीं लेकिन हालात इस
प्रकार से अब अपने आप पैदा कर दिए हैं कि
अब रहेगी भी तो

भी इस पर बहुत बड़ा प्रश्न है छह विधायकों
की बगावत ने कांग्रेस को इस हालत में ला
खड़ा किया है कि उसे ना तो निगलते बन रहा
है

ना उगलते कांग्रेस के प्रदेश नेतृत्व से
लेकर आला कमान तक पशोपेश में है एक्शन और
रिएक्शन के बीच सीएम सुखविंद्र सिंह
सुक्खू की कुर्सी हिल रही

है लिहाजा अब इस बगावत की बेचैनी दिल्ली
में महसूस हो रही है आला कमान को समझ में
नहीं आ रहा है कि अचानक आए संकट से उभरे
भी तो
कैसे टी न्यूज
नेशन

Leave a Comment