✨ एक बड़ी मुसीबत आपके सामने आने वाली है.. ||

तुम्हारा भाग्य सदा से ही धन से भारत हुआ
था किंतु तुमने जो अपने जीवन में
नादानियां कारी उसके जलते तुम्हारे जीवन
से लक्ष्मी माता का वास खत्म हो गया और आज
मैं तुम्हें वही करण बताना चाहती हूं

जिसकी वजह से तुमने अपने जीवन में धन को
नहीं देख पाते और तुम्हारा यह सुंदर जीवन
केवल और केवल ढंग के अभाव में बहुत खराब
हो चुका है हर इंसान अपने भाग्य का धन

लिखकर लता है लेकिन उसे अपने के लिए कुछ
ऐसे कर्म करने पढ़ते हैं जिससे वह धन उसके
जीवन में ए सके भगवान तुम्हारे जीवन में
सब कुछ अच्छा करते हैं लेकिन वह अच्छा
तुम्हें तभी प्राप्त होगा तब तुम खुद

अच्छे रास्ते पर चलोगे यदि तुमने बुराई का
रास्ता चुनकर यह सोचा की मुझे केवल धन ही
धन था मिले तो यह कृष्णा तुम्हारा गलत है
क्योंकि तुम कुछ समय के लिए वह धन अर्जित
तो कर लोग लेकिन उसे धन से किसी भी प्रकार
का सुख तुम्हें कभी नहीं मिल पाएगा जी

प्रकार यह संसार पैसे की बिना नहीं जल
सकता इस प्रकार तुम अपने जीवन में अच्छे
कर्मों के बिना मुझे कभी प्राप्त नहीं कर
सकते

यदि तुम चाहते हो की मैं तुम्हारे अकाउंट
में हमेशा पैसा भेजती रहूं और तुम्हारे घर
में धन की कभी कोई कमी ना हो तो तुम्हें
अपने अंदर की कैमियो को ढूंढकर उन्हें
समाप्त करना होगा और वह कमियां तभी समाप्त
हो शक्ति हैं जब तुम उन चीजों को देख

सुकून जो मैं तुम्हें दिखाना चाहती हूं
यदि तुम अपनी माता पर विश्वास करते हो तो
तुम्हें आज यह साबित करना होगा और मैं
तुम्हारी पहले परीक्षा इस संदेश नहीं ले
रही हूं मैंने तुम्हें सदा सब कुछ दिया है
किंतु आज तुम्हारी यह परीक्षा तुम्हें

स्वयं सफल करनी है तभी मैं तुम्हारे जीवन
में खुशियां दे शक्ति हूं मैं आज किस रूप
में तुम्हारे घर में प्रवेश कर लूं
तुम्हें स्वयं नहीं पता चलेगा बस आज
तुम्हारा परीक्षा का दिन है जो तुम्हें

सफल करनी है आज तो बहुत खुशी का दिन है
क्योंकि आज तुम्हें मैंने चुनाव है और
मेरी दृष्टि जी इंसान पर पद जाए उसकी पूरे
जीवन की किया पलट कुछ मिनट में ही हो जाति
है मेरे बच्चे वास्तव में यह धन उन लोगों
को सबसे अधिक प्राप्त होता है जो मेरी

पूजा अर्चना करके मुझे प्रश्न करते हैं और
तुम्हें भी अपने कर्मों द्वारा आज मुझे
खुश रखना है ताकि मैं भी तुम्हें अपना
आशीर्वाद देने के साथ-साथ उन सभी चीजों को
प्रधान करूं जिन चीजों के तुम हकदार हो अब
ध्यान से सुनो जो मैं तुम्हें बता रही हूं

उन कार्यों को करना शुरू कर दो और मेरी
कृपा को अपने घर में सदा ही आने दो आज मैं
तुम्हारे पास तुम्हारे घर में आने वाली
हूं इसलिए तुम अपने घर के प्रवेश द्वारा

को सजा कर रखो और पूजा की थाली लेकर मेरा
स्वागत करो जब तुम ऐसा करोगे तो मैं अपनी
करुणा दृष्टि से तो मैं देख कर तुम्हारे
घर में प्रवेश करने ए जाऊंगी किंतु यह भी
याद रखो तुम्हें अपने घर में पूर्ण रूप से

सफाई रखती है तुम्हें बात अच्छे से जानते
हो की मुझे सफाई कितनी प्रिया है यदि
तुमने अपने घर में गंदगी रखें तो वह दूर
नहीं

हमारे घर से धन का अभाव और अधिक बाढ़
जाएगा मेरे बच्चे जो लोग लोग अपने घरों
मैं सफाई नहीं रखते वहां मेरा आना तो दूर
मेरी कृपा भी उन लोगों को नसीब नहीं होती
और मैं तुम्हें यही मार्ग दिखा रही हूं

ताकि तुम अपने घर में सफाई करो और यह गलती
ना कर अपने घर के सभी दरवाजे खोलकर रखना
और उन दरवाजे से ही मेरा प्रवेश होगा जब
मैं आऊंगी तो मैं तुम्हें सपना में आकर

पहले दर्शन देकर जाऊंगी मेरे दर्शन करने
का मतलब है की अब तुम्हारे जीवन में मेरी
कृपा हमेशा के लिए आने वाली है इसलिए मेरे
बच्चे अब मेरा इंतजार करूंगा मैं तुम्हारे

सपना में आकर तुम्हें दर्शन अवश्य दूंगी
और वह साड़ी तैयारी करो जो मैं तुम्हें का
रही हूं यह याद रखना जिन घरों में मेरा
आधार होता है उन घरों में मेरी कृपा तो

हमेशा रहती है साथ ही सभी प्रकार के दुख
फिर चाहे वह घर का क्लेश हो या फिर किसी
प्रकार का स्वास्थ्य से संबंधित परेशानी
हो सभी प्रकार की परेशानियां का
समाधान मैं स्वयं करती हूं मुझे प्रश्न

करना बहुत आसन है किंतु जो बच्चे मेरा
निराधार करते हैं और मेरी आजा का पालनपुर
नहीं करते उनके जीवन में मैं कभी नहीं आई
और वह जीवन भर परेशान रहते हैं इसलिए मैं
यह सब बातें बता रही हूं मेरे बच्चे जो

आर्थिक परिस्थितियों तुम्हारी खराब रही है
उनका करण भी मैं तुम्हें आज अपने संदेश
मैं बता रही हूं यदि तुम उन बटन पर ध्यान
डॉग तो कभी भी समय धन की कमी नहीं हो
शक्ति या कुछ कमियां ही मनुष्य की सबसे
बड़ी दुश्मन है और इन कैमियो के चलते

मनुष्य अपने जीवन में कुछ भी हासिल नहीं
कर पता और जो इन चीजों को समझ जाता है वह
धन के साथ-साथ सब कुछ का लेट है तुम्हारा
सबसे बड़ा दुश्मन है तुम्हारा लक्ष्य

निर्धारित ना होना तुम कोई भी कार्य करते
हो तो उसे सोच समझे बिना ही करने लगता हो
मेरे बच्चे जो इंसान बिना सोच समझे कार्य
करता है वह अपने जीवन में कभी सफल नहीं हो
सकता यह तुम स्वयं सोचो की यदि तुम्हें
कहानी जाना है तो उसके लिए अपने मां के

भीतर पहले तुम सोचते हो और फिर उसे रास्ते
पर चलते हो परंतु यदि बिना सोच समझे ही
तुम उसे रास्ते पर निकाल गए तो तुम अपनी
मंजिल पर नहीं जा पाते ठीक इस प्रकार का
यदि तुम्हारा लक्ष्य निर्धारित नहीं है जो
तुम कभी भी सफल नहीं हो सकते बिना लक्ष्य
के मनुष्य

जीवन में असफल ही होता राहत है दूसरा बड़ा
करण है समय की बचत ना करना मेरे बच्चे
तुम्हें अच्छे से जानते हो की हर व्यक्ति
के पास एक सीमित समय परंतु फिर भी तुम
अपने समय में बचत नहीं करते तुम अपने समय
को उन बेकार चीजों में सबसे अधिक लगाते हो
जो तुम्हारे किस जो तुम्हारी किसी कम के
नहीं है और मैं तुम्हें पहले भी समझा चुकी
हूं की यदि समय को बेकार की चीजों में
व्यस्त करोगे तो तुम्हारा जीवन बर्बाद

होता चला जाएगा और यही सबसे बड़ा करण
तुम्हारे पास धन की कमी है जैसे नदी यदि
एक स्थान पर रुक जाए तो वह नदी का पानी सब
जाता है ठीक इस प्रकार तुम आज जहां हो यदि
तुम वहीं बने रहोगे तो तुम कभी आगे नहीं
बाढ़ सकते और तुम्हारा जीवन एक ही जगह पर

पड़े पड़े बेकार हो जाएगा इसलिए जीवन में
निरंतर आगे बढ़ते रहना चाहिए तुम्हारा हर
एक कम आगे की और जाना चाहिए परंतु तुम
अपने जीवन में अपने हर एक कम को और भी
पीछे लेकर ए रहे हो जिसके करण तुम्हें धन

का अभाव हो रहा है मैं तो स्वयं अपने उन
भक्तगण की वर्षा करती हूं जो मेरे दिखाई
मार्ग पर चलते हैं वह अपने जीवन में हर
प्रकार का सुख भगते हैं और यह उनके अच्छे
कर्मों द्वारा ही मिलता है
मैं भी यही चाहती हूं की तुम भी अपने

कर्मों में सुधार करके अपने जीवन का
लक्ष्य निर्धारित करके अपने समय की बचत
करके अपने आप को आगे लेकर आओ मैं तुम प


धन की वर्षा करना चाहते हो मेरे बच्चे यह
है याद रखो को मेरी कृपा दृष्टि सजा तुम
पर बनी रही है और आगे भी रहेगी
परंतु तो मैं भी आगे बढ़ाना है तुम्हें अब

घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं
तुम्हें कमजोर नहीं पढ़ने दूंगी मैं जानती
हूं की तुम्हारी आरती परेशानियां में तो
मैं इस प्रकार तोड़ दिया है की तुम अपने
जीवन में एक-एक पैसे के लिए भी परेशान हो

चुके हो किंतु मेरा विश्वास रखो मेरे
बच्चे मेरे द्वारा बताए हुए हर सब
तुम्हारे जीवन को बदलने के लिए
पर्याप्त है मैं तुम्हें सुखी नहीं देख
शक्ति मैंने अपनी कृपा दृष्टि तुम्हारे घर
की और मोड दी है यदि तुम मेरी बटन को नहीं
मनोज तो मेरी कृपा प्राप्त होने के बाद भी
तुम्हारे कर्मों के करण वह सर धन

तुम्हारी जीवन से समाप्त हो जाएगा मेरे
बच्चे भगवान हमेशा उन्हें की सहायता करते
हैं जो अपनी सहायता करने के लिए अच्छे
कर्म करते हैं तुम्हारे घर में ही

तुम्हारी पहचान यदि तुम कर्म करोगे तो
उसका फल देने के लिए ईश्वर को आना ही
पड़ता है फिर चाहे तुम गरीब हो या अमीर
तुम्हारी भक्ति और तुम्हारे मां में जो
श्रद्धा है उन चीजों से ही भगवान सदा अपने
बच्चों के पास आने के लिए व्यवस्था हो
जाते हैं

मेरे जान का समय है मेरे बच्चे अपना ध्यान
रखना और जीवन में सदा अच्छे कार्य करके
आगे बढ़ाना आज मैं तुम्हारे घर में प्रवेश
अवश्य करूंगी यह मेरा वचन है फिर तो मैं

मुझे वचन देना होगा जो मेहनत में कहा है
उसे हमेशा अपने जीवन में अपना नाम और इस
रास्ते पर आगे बढ़कर चलना तुम्हारा कल्याण
हो सदा खुश रहना

Leave a Comment