🕉️ मां काली 🕉️तुम्हारी जीत निश्चित है किस के मुखौटे उतर रहे हैं मैं तुम्हारे सामने किस के

माता रानी लिख दीजिए मेरे बच्चे तुम्हारी आत्मा ऐसी है जो सब का दुख सुनना चाहती है सब के दुख दर्द को दूर करना चाहती है तुम

कभी यह सोचकर किसी का भला नहीं करते कि उसके बदले में तुम्हें क्या मिलेगा तुम तो किसी अनजान व्यक्ति की भी वैसे ही मदद

करते हो उसके बदले में तुम्हें बहुत बातें सुनने को भी मिली है बहुत बार लोगों ने तुम्हारे ऊपर ही पलट कर इल्जाम लगा दिया है तब तक तुम उसका हाथ नहीं छोड़ते हो तुमने एक बार उसका हाथ छोड़ दिया एक बार तुमने उसे अपने जीवन से बाहर निकाल फेंका

उसके बाद मुड़कर कभी नहीं देखते हो तुम उसे व्यक्ति को अपने जीवन में ला नहीं सकते हो क्योंकि तुम्हें पता है तुमने उसे व्यक्ति को अपना 100% दिया था कुछ ना दे रहा हूं मेरे बच्चे तुम्हें हमेशा यही लगता है कि सब का ख्याल रखना ही तुम्हारी जिम्मेदारी है

और तुम उसे बखूबी निभाते हो तुमने सबके दिल का दर्द सुना है घंटे घंटे तक लोगों की बातें सुनी है उनके आंसर पहुंचे हैं कभी खुलकर अपने दिल की बात किसी को नहीं बता पाते हो

Leave a Comment