🕉️ मां दुर्गा 🕉️ जी आपको बहुत से संकेत दे रही है लेकिन आप हमेशा उसे अनदेखा करते हैं

मेरे बच्चे यह मेरी अंतिम चेतावनी है मैं

तुम्हें आखरी बार समझा रही हूं यदि तुमने

मेरी बटन को ध्यानपूर्वक नहीं सुना और

ध्यान नहीं दिया तो तो मैं मेरे अत्याध

में क्रोध का सामना करना पड़ेगा

इसलिए मैं तुम्हें यह संदेश भेज रही हूं

मेरे बच्चे इसलिए जो आज बताने वाली हूं

उसे ध्यानपूर्वक सुना और समझना क्योंकि इस

बात को समझना बहुत ज्यादा जरूरी है

तुम्हारे लिए जीवन के रास्ते रुकने के

बहुत करण होते हैं

परंतु रास्ते खुलना की बहुत कम

वजहों को कभी अंडे का मत करो क्योंकि गुना

तो मैं बड़ी-बड़ी गलतियां के करण प्राप्त

होता है

लेकिन सबसे पहले तो मैं इस बात का ध्यान

रखना

यदि जीवन में तुमसे कोई गलती हो जाति है

तो तुम उसको ध्यान से रखते हुए उसकी माफी

की याचना करते हुए कुछ ऐसे कार्य करो

जिससे तुम्हारी वह गलती की माफी तुम्हें

मिल जाए

और आगे के सभी मार्ग तुम्हारे लिए खुला

जैन मुझे ज्ञात है मेरे बच्चे की पैसों की

आवश्यकता सभी को होती है परंतु यह मैं

तुम्हें कई बार समझा चुकी हूं की गलत

मार्ग से पैसे यदि तुम अर्जित करते हो तो

तुम बहुत बड़ा पाप कर रही हो

यदि तुम सोचते हो की घुमावदार कार्य करोगे

और दुनिया को बेवकूफ बनाकर तुम पैसे

अर्जित कर लोग तो यह तुम्हारी बहुत बड़ी

भूल है मेरे बच्चे क्योंकि वह पैसे

तुम्हारे पास कुछ समय के लिए तो ए जाएंगे

लेकिन मैं ऐसे जगह और ऐसे कार्य में खर्च

होंगे जो तुम्हारी किसी कम के नहीं होंगे

इसलिए पैसे को ईमानदारी से काम सकते हो

मेरे बच्चे ईमानदारी से कामना और यदि जीवन

में कोई गलती हो जाति है तुमसे जान अनजाने

भूल से तो तुम हर शनिवार को विष्णु देव

पीपल के वृक्ष में महालक्ष्मी के साथ बात

करते हैं

शनिवार के दिन सरसों के तेल का दिया रख

देना तो मैं सभी की गलतियां से वह स्वयं

माफ कर देंगे उनके माफ करते ही मुझे माफी

तो मैं सत्य ही मिल जाएगी लेकिन मेरे

बच्चे इसके साथ इस बात का भी स्मरण रखना

की तुम्हें गलत कार्य से किसी भी सूरत में

बचाना होगा इस दिन थोड़ी सी पूजा पाठ करने

से और कुछ भी मांगने से तुम्हारी मनोकामना

पूर्ण हो जाति है खाने का अर्थ यह है मेरे

बच्चे की यदि तुम अपनी गलतियां की माफी

मांगते हुए

इस कार्य को करते ही माफी मिलती है यही

तुम्हारी जीवन में यदि नुकसान हो रहा होता

है वह भी दूर हो जाता है

क्योंकि आने वाले दिन तुम्हारे लिए भारी

चमत्कार लेकर आएंगे यदि तुम आगे की कर्मों

को सुधारते हुए पीछे की हुई गलतियां की

माफी मांगने के लिए कुछ धन निपुण भी करोगे

तो मेरे बच्चे उससे भी तुम्हें माफी मिलती

रहेगी

बड़ों की सेवा करो बड़ों की आजा का

पालनपुर करो किसी से ऊंची आवाज में बात मत

करो मेरे बच्चे देखना देखते-देखते ही

तुम्हारा दिन कैसे पलट जाएंगे मेरे बच्चे

कल सुबह तुम मेरी पूजा करने आओगे तो तुम

पान का पत्ता लेकर आना

और तुम्हारी जो इच्छा अधूरी है उसे बोलते

हुए उसे पेट को मुझे समर्पित कर देना तुम

जी कार्य को काफी समय से कर रहे हो उसे

पूर्ण करने में काफी प्रयास कर चुके हो

उसे कार्य को पूर्ण होने का समय ए चुका है

इसलिए अब तो मैं रुकना और थकना नहीं

ताकत से उसे कार्य को पूर्ण करने के लिए

कोशिश करो

मेरी बटन को ध्यान रखना यह मत भूलो की

तुम्हारा आगे का समय बहुत अच्छा होगा तुम

निश्चित रहो मेरे बच्चे तुमसे मैं बहुत

प्रेम करती हूं और मैं शक्ति बनकर

तुम्हारे हर कार्य को सफल बना दूंगी

तुम्हारे जीवन में एक ऐसी शक्ति उत्पन्न

हो रही है जिससे की मेरा वक्त जी बात को

अपने मां में बस ले मैं उसकी हर इच्छा को

पूर्ण करने के लिए सहायक वंशकों कल की

सुबह तुम्हारे भाग्य को उदय करने की सुबह

है

कल की सुबह की किरण तो मैं तुम्हारी मंजिल

अवश्य दिलाएगा यह मेरा वचन है यह एक बात

तो मैं कभी भूलना नहीं चाहिए जैसे तुम

संसार को दुख दर्द एवं हनी प्रधान करोगे

तो मैं भी किसी ना किसी रूप में दुख दर्द

और हनी ही प्राप्त होगी

तुम्हारे द्वारा की गई अच्छाई और बुराई

दोनों ही सही समय होने पर तो मैं प्राप्त

होगी तो मैं आवश्यकता है की तुम संसार में

केवल नया भाव प्रेम सकारात्मक की प्रधान

करो

[संगीत]

तो मैं सदैव दूसरों से पूछना चाहिए की तुम

कैसे उनकी सहायता कर सकते हो तो मैं यह भी

जन की आवश्यकता है की जब तुम किसी दूसरे

की सहायता करके उसको ऊपर उठाने में मदद

करते हो तो

उसे व्यक्ति के ऊपर उठने और बेहतर होने पर

उठाते हो और बेहतर मनुष्य बनते हो दूसरों

की सहायता करने पर जो संतुष्टि और

प्रसन्नता प्राप्त होती है तो तुम्हारा भी

विकास होता है दूसरों की सहायता करने पर

तो मैं आवाज होगा

! की तुम स्वयं से बड़ी किसी चीज का

हिस्सा हो जब तुम दूसरों से स्वयं को

जोड़ोगे तो तुम्हें अपने हृदय में पहले से

अधिक शांति का आभास होगा तो मैं संसार में

अति प्रसन्नता और स्वयं के जीवन में अधिक

खुशियां महसूस होगी

संसार से स्वयं को जोड़ने पर तो मैं अपनी

सेहत और कल्याण मैं भी सुधार महसूस होगा

आज तुम्हें या थान लेना चाहिए की तुम

स्वयं को संसार का और संसार को स्वयं का

हिस्सा मनोज मेरा आशीर्वाद सदैव तुम्हारे

साथ है मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा करना

Leave a Comment