🕉️ वह बेताब है तुमसे मिलने को❤️

वह बेताब है तुमसे मिलने को मेरे बच्चे से नहीं तुम्हारा मिलन होगा मेरे बच्चे तुम्हारा प्रेमी इस वक्त बहुत ज्यादा परेशान है उसकी

परेशानी बहुत ज्यादा है वह हर पल मुझे से यही कह रहा है प्रभु मेरी मदद करो मेरी प्रार्थना सुनो ना चाहते हुए भी न जाने क्यों आज

बार बार उसे तुम्हारा ही नाम सुनाई पड़ रहा है हर वक्त तुम्हारा चेहरा तुम्हारा ही चेहरा आंखों के सामने क्यों दिख रहा है आज

उसकी तरफ कुछ ज्यादा ही है उसका दिन ज्यादा बेचैन हो रहा है वह मुझे सुबह से लेकर यही प्रार्थना कर रहा है यही बात हर बार कह रहा है प्रभु पूछ रहा है किस लिए मेरे साथ ऐसा हो रहा है ऐसे भी दम ना हो रहा है जिसे मैं भूलना चाहता हूं पर भूल नहीं सकता

में याद नहीं करना चाहता वही बार बार याद आता है हर पल उसी की याद मैं हर पल मुझे क्यों याद आ रहा है अब तो सपने में भी और मेरा पीछा नहीं छोड़ रहा है सपने में भी बाहर समय मेरे इर्द गिर्द घूमते रहता है परमपिता परमेश्वर यह मेरे साथ क्या हो रहा है

मेरे बच्चे यह सब तुम्हारे प्रेम के कारण हो रहा है मुझे कोई भी दम बना नहीं है यह तुम्हारा प्रेम ही है जो तुम्हें आकर्षित कर रहा है

Leave a Comment