🕉 दुर्गा मां 🕉 ” आज मैं हाथ जोड़कर तुम से अनुरोध करती हूं मेरे संदेश को सुनो

मेरे बच्चे तुम्हें यदि मेरा संदेश
प्राप्त हुआ है तो यूं ही प्राप्त नहीं
हुआ बल्कि एक बहुत बड़े उद्देश्य से मैं
तुम्हारे पास आई हूं जो बताना चाहती हूं

वह बहुत ही बड़ी बात और गहरी बात है इसलिए
तुम इस बात पर इसलिए तुम इस बात को अनसुनी
मत कर देना और ध्यानपूर्वक सुना क्योंकि
जो बात मैं तुम्हें बता नहीं का रही हूं

जीवन से बहुत ही गहरी राज जुड़े हुए हैं
तुम्हारे क्योंकि यदि तुमने इस राज्य में
थोड़ी सी भी कोई ऐसी गलती करती की तुमने
जान अनजाने में ही सही लेकिन जो बातें में
बताने वाली हूं उनमें से एक भी गलती

तुम्हारी जीवन को बहुत भारी पद शक्ति है
की तुम जो कर रहे हो वह कुछ बटन को ध्यान
में रखना तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है
क्योंकि यदि तुम इन गलतियां को करते हो तो
तुम्हें मेरे क्रोध का सामना करना पद सकता
है मैं तुमसे क्रोध करना नहीं चाहती इसलिए

मैं तुम्हें पहले ही समझने आई हूं जिससे
की तुम गलत हो को ना करो यह देख कर रहे हो
कम को रॉक लो मेरे बच्चे क्योंकि यदि मैं
तुम पर क्रोध करूं
तो एक मां अपने बच्चे पर क्रोध करती है तो
बाद में पछतावा मां को भी होता है लेकिन
यदि तुम कोई गलती करोगे तो क्रोध करने

का
मेरा धर्म बंता है क्योंकि कुछ गलतियां
ऐसी होती है इनकी माफी आपको आराम से मिल
जाति है क्योंकि है इतनी बड़ी गलतियां
नहीं होती लेकिन जीवन में कुछ ऐसी गलतियां
यदि तुम कर देते हो तो तुम केवल मेरे
क्रोध का ही सामना नहीं करते बल्कि जीवन

में तुम्हें कभी इन गलतियां की माफी नहीं
मिल पाती है इसलिए आपको यह विशेष ध्यान
रखना है मेरे बच्चे की कौन सी गलतियां ऐसी
हैं जिनको तुम करते हो तो तुम्हें कभी
माफी नहीं मिल पाती उन बटन को जान लेना
तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है सबसे पहले
गलती इस संसार में छोटी

10 साल तक की उम्र यदि तुम उसका अपमान
करते हो उसे पर क्रोध करते हो उसे अब शब्द
बोलते हो तो यह तुम्हें नहीं करना उसकी
इज्जत करनी है उसका मां सम्मान तुम्हें
रखना बहुत जरूरी है क्योंकि साक्षात वह
मेरा रूप होती है इसलिए आगे ध्यान रखना की

तुम कभी भी ऐसी कन्या जो बहुत छोटी हो कभी
भी उनका अपमान नहीं करना
निराधार नहीं करना दूसरा तुम्हें इस बात
का ध्यान रखना की यदि तुम्हारे घर के
सामने कोई तुमसे मदद मांगने आता है तो तुम

उसे गलती से भी कभी माना मत करना ना ही
तुम उसे अनदेखा करना अगर तुमसे हो सके तो
तुम उसकी मदद कर देना अगर तुमसे मदद ना हो
पे तो तुम आराम से प्रेम से उसे समझना की
तुम उसकी मदद के योग्य नहीं हो लेकिन किसी

को भी अपने घर पर आए हुए व्यक्ति को या
किसी भी इंसान को तुम गलती धुटकर कर भाग
देते हो तो ऐसी गलती तुम्हारी मेरे क्रोध
का करण बंटी है क्योंकि किसी से मदद

मांगने तभी कोई आता है जब किसी के योग्य
हो जाता है और तीसरी बात यदि तुम अपनी मां
का अपमान करते हो तो साक्षात तुम मेरा
अपमान करते हो अगर तुम ऊंची आवाज में बात
करते हो या उनसे कुछ भी ऐसे शब्द बोलते हो
जो की उनसे बर्दाश्त नहीं होते उनके हृदय
को तुम्हारी कहे हुए

लगता हैं और वह अपने आंखों में आंसू ले आई
है तुम्हारी बोलने के करण तो मेरे बच्चे
इससे बड़ा पाप कुछ भी नहीं हो सकता
क्योंकि तुम्हारे जन्मदिन क्योंकि
तुम्हारी जन्म देने वाली मां और मुझमें
में कोई अंतर नहीं एक तरफ तुम मेरी पूजा
करते हो और दूसरी तरफ मेरे द्वारा भेजें

हुए इस धरती पर जिसके द्वारा मैंने
तुम्हें भेजो है उसका अपमान करते हो तो
तुम्हारी की हुई गलती हो रही है ऐसा करते
हो तो तुम्हें निश्चित ही मेरे क्रोध का
सामना करना होगा और अगर इन 13 गलतियां को

तुम नहीं करते हो तो मेरे बच्चे मैं तुमसे
बहुत प्रेम करती हूं मैं तुम पर कभी ना तो
क्रोध करती हूं और ना ही करना चाहती हूं
मैं नहीं चाहती की मैं अपने बच्चे के ऊपर
क्रोध करूं मैं हमेशा तुमसे प्रेम करती थी

मेरे बच्चे और हमेशा तुमसे प्रेम ही
रहूंगी बस तुम कोई गलती मत करना मैं फिर
आऊंगी तुमसे मिलने सदा खुश रहो मेरे बच्चे
अब इसे ध्यानपूर्वक सुनो जी प्रकार तुम
दूसरों से प्रेम करते हो मेरे प्रिया वही
प्रेम तुम स्वयं से क्यों नहीं करते हो

तुम स्वयं की कलर तो जानते ही नहीं हो आज
मैं तुमसे कहना चाहता हूं की शीघ्र ही
तुम्हारे साथ कुछ बहुत ही अच्छा घटित होगा
तुम्हारे लिए जो चीज ठहर गए हैं वह फिर से
चलने लगेगी एक जीरो एक जीरो लिखे और कहे
मैं अपने जीवन में खुशियों का आगमन करने

के लिए तैयार हूं मेरे प्रिया समस्या तो
यही है की तुम स्वयं को बहुत कम समझ लेते
हो यही तुम्हारी सबसे बड़ी भूल है तुम
नहीं जानते तुम आनंद संभावनाएं समेट हुए

हो अनंत ऊर्जा का केंद्र तुम्हारे भीतर है
कर बार एक लाइक है और कहे मैं परम
शक्तिशाली हूं मेरे अंदर सिर्फ की ऊर्जा
का संचार है जो लोग तुम्हारे बड़े में गलत
सोचते हैं या तुम्हारे ऊपर टिप्पणी करते
हैं उन्हें बोलने दो वह केवल तुम्हारे दिल

में ऊर्जा को दुष्ट करना चाहते हैं मेरे
प्रिया तुम इतने चिंतित क्यों होते हो यदि
पहले भी आएगा और पुरी सृष्टि डब गई तो भी
मैं तुम्हें सुरक्षित बाहर निकाल लूंगा
तीन बार तीन लिखे हैं और कहें परमपिता
परमेश्वर का आशीर्वाद मेरे और मेरे परिवार

के ऊपर बना हुआ है मेरे प्रिया जो लोग
तुम्हारी आज की स्थिति के आधार पर
तुम्हारा मूल्य कम कर रहे हैं क्या
उन्होंने तुम्हारा भविष्य देखा है क्या
उन्होंने स्वयं का भविष्य देखा है कदापि
नहीं किंतु मैं उनका और तुम्हारा भूत
भविष्य दोनों ही जानता हूं यह पूरा मार

मार अनंत शक्ति की कल्पना से रचित जो हो
रहा है या जो होगा सब कुछ पूर्ण निर्धारित
है इसलिए तुम उन मुल्कों को बोलने दो और
अपना कार्य करो मैं सभी बातें जो तुम्हें
दर्द देते हैं उन्हें अपने अवचेतन मां से
बाहर निकाल फेंका को जैसे आंख में बड़ा

छोटा सा दिन का तुम्हें व्यतीत और विचलित
कर देता है वैसे ही अब चेतन मां में
संकल्प करके डाला गया अनावश्यक विचार
हमारे जीवन को प्रभावित कर देता है तीन

बार आठ लिखे हैं और कहें मैं बहुत खुश हूं
मैं बहुत ज्यादा भाग्यशाली हूं मेरी
प्रिया बहुत जल्द तुम्हारे जीवन में एक
बड़ा मूड आने वाला है जो तुम्हें पहले से

अधिक शक्तिशाली बना देगा तुम महसूस करोगे
तुम्हारे आसपास का वातावरण शुद्ध और
दिव्या हो चुका है तुम्हें इस मार्ग में
बहुत सारे अच्छे लोग मिलेंगे जो पुण्य
आत्मा स्वरूप होंगे जो तुम्हारे सहायक
बनेंगे तीन बार एक लिखे और कहें मैं उन

दिव्या पुण्य आत्माओं से भेंट करने को
तैयार हूं किंतु वहां तक पहुंचने से पहले
तुम्हारे सामने कई ऐसे लोग आएंगे जो
बार-बार तुम्हें पीछे खींचना की कोशिश
करेंगे मेरे बच्चे विश्वास करो मैं

अपना विश्वास और धैर्य बनाए रखना परमेश्वर
का सच्चा मार्ग दर्शन आप तक सबसे पहले
पहुंचे इसीलिए इस चैनल को शीघ्र ही

सब्सक्राइब करें और लाइक करें मेरे बच्चे
क्योंकि तुम सत्य का प्रतीक हो यदि मैं
तुम्हें ज्यादा इंतजार कर रहा हूं तो
तैयार हो जो क्योंकि उससे भी कहानी अधिक
अब तुम्हें मिलने वाला है जितना तुमने
मांगा था कभी कभी
मैं सबसे अच्छा पानी के लिए बुरे दूर से
गुजरा पड़ता है क्योंकि वह समय तुम्हारी
परीक्षा का होता है
जो हो रहा है उसे होने दो क्योंकि मेहनत
तुम्हारे लिए तुम्हारी सोच से भी बेहतर
तुम्हारे बड़े में सोच कर रखा है मेरे
बच्चे तो मेरे हर फैसला पर खुश रहो
क्योंकि मैं तुम्हें वो नहीं देता जो
तुमको अच्छा लगता है
बल्कि मैं वो देता हूं जो तुम्हारे लिए
अच्छा होता है
यदि आपको परमेश्वर पर विश्वास है तो इस
दिव्या संदेश को लाइक
और कहें मुझे परमेश्वर पर पूर्ण विश्वास
मेरे साथ जो होगा वह बहुत अच्छा होगा मेरे
प्रिया अब तक जो तुमने अपने जीवन में कष्ट
देखें हैं उसके पीछे कोई करण था जो आने
वाले समय में तुम्हें स्पष्ट होगा उदय
किसी का भी अचानक नहीं होता सूर्य भी
धीरे-धीरे निकलता है और ऊपर उठाता है
धैर्य और तपस्या जिसमें है वही संसार को
प्रकाशित कर सकता है आने वाले दोनों में
तुम्हें कुछ दिव्या बदलाव नजर आएंगे
तुम्हारे जीवन में वह तुम्हारे लिए एक
संकेत होगा मेरे प्रिया जब-जब तुम अकेले
हो जाते हो तो उसके पीछे भी कोई करण होता
है तब मैं तुम्हें एक अफसर देता हूं की
बिना किसी रुकावट के एक दिशा की और आगे
बढ़ो क्योंकि अब वह समय ए चुका है यहां से
शुरू होगा तुम्हारा दिव्या अफसर आज से तुम
स्वयं को अकेला हर हुआ कमजोर समझना छोड़
दो जब स्वयं संपूर्ण ब्रह्मांड तुम्हारे
पक्ष में कम कर रहा है तुम्हारे साथ है
भला तुम कैसे अकेले हो सकते हो तीन बार कर
लिखे हैं और कहे मैं जितने के लिए ही आया
हूं और मैं जीत के दिखाऊंगा इस दुनिया को
सच्चे हृदय से परमात्मा का नाम लिखे हरे
कृष्णा हरे राम जिसे आपको सुकून की
अनुभूति हो और प्रतिदिन है
मेरे साथ सब कुछ अच्छा हो रहा है मैं
भाग्यशाली हूं

Leave a Comment