🕉 दुर्गा मां 🕉 सावधान हो जाओ आज मां तुम्हें आगाह करने आई हैं।

मैं आज आपको दर्शन देने धरती लोग

पर आया हूं मैं तुम्हारी भक्ति को देखकर

अत्यंत प्रश्न हूं तुम्हारे सुख दुख को

भाले भांति जानता हूं जीवन में व्यक्ति

सत्य के मार्ग पर चलते हुए केवल दो ही

गलतियां करता है पहले या तो वह पूरा

रास्ता ते नहीं करता दूसरी या फिर वह

शुरुआत ही नहीं करता जीवन में अगर आप

चिंतन करते रहोगे तो आप दुखी रहोगे लेकिन

जो भगवान का चिंतन करता है वह सुखी राहत

है मेरे बच्चों ईश्वर हमारी बहुत परीक्षा

लेट है लेकिन हमारा साथ नहीं छोड़ना है और

बुरे लोगों को ईश्वर बहुत कुछ देता है

लेकिन साथ नहीं देता है

इसीलिए ईश्वर पर विश्वास रखिए

समय पर ही पूरे होंगे और आपको जीवन में

ईश्वर कभी अकेला नहीं छोड़ेंगे जो अतीत

में हो चुका है उसे सोचकर परेशान मत हो जो

बीट चुका है उसे हम वापस नहीं ला सकते हैं

सुख दुख सबके जीवन में आते जाते रहते हैं

तो ऐसा नहीं है की आपके जीवन में हमेशा

दुखी होंगे खुशियों का आना भी आपके जीवन

में निश्चित है हमारे जीवन में हमारे

रिश्ते की अहमियत बहुत ज्यादा होती है

कभी-कभी हम अपने रिश्तो को जोड़ने के लिए

अपने आत्मसम्मान को भी थिस पहुंच लेते हैं

मैं आपको यही समझना चाहता हूं की ऐसे

रिश्ते खोखले होते हैं जो जीवन में आपको

दुख देते हैं कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं

जिनको जोड़ने जोड़ने इंसान खुद ही टूट

जाता है वह किसी की नजर में अच्छा और किसी

की नजर में बड़ा बन जाता है लेकिन हकीकत

तो यह है की जो जैसा है उसकी नजर में आप

कैसे होते हैं मेरे बच्चों इस मायाजाल में

जितना दूर रहो उसके शिकार में मत आओ

क्योंकि यह तुम्हारी बुद्धि को अंदर से

खोकला कर देगा जिसके चलते हैं तुम अपने

परिवार के साथ साथ मुझे भी दूर हो जाओगे

क्योंकि यह डर ही ऐसा दाल है जो तुम्हारे

अंदर से तुम्हारे चेतन को खत्म कर देगा

मैं तुम्हें जीवन का एक सबसे बड़ा सत्य

बताता हूं हमारी दुखों का सबसे बड़ा करण

हमारा स्वयं का डर होता है फिर चाहे वे डर

किसी भी चीज को कोन का हो या किसी चीज को

अपने का या किसी चीज से दूर जान का यह डर

ही ऐसी चीज है जो मनुष्य को बहुत से दुखों

के जंजाल में फंसा देती है यदि तुमने

सेंटर पर काबू का लिया तो इस संसार में

ऐसी कोई चीज नहीं है जिसे तुम ना का सुकून

क्योंकि हमारी जिंदगी में सबसे बड़ी

रुकावट यह डर ही पैदा करती है किंतु यह भी

सत्य है की जीवन में डर होना भी आवश्यक है

परंतु यह इस बात पर निर्भर करता है की

तुम्हारा डर किस प्रकार का है अतः यदि तुम

किसी बुरे कार्य को करने से डर रहे हो तो

वह डर तुम्हारे जीवन के लिए आवश्यक है

परंतु यदि तुम अच्छे कार्यों में भी डर के

करण कार्य करने से पीछे है रहे हो तो इस

प्रकार का डर तुम्हारे जीवन को बर्बाद कर

देता है इसीलिए मेरे बच्चों तुम चिंता मत

करो मेरे दिखाएं हुए रास्ते पर तुम्हें

सिर्फ खुशियां मिलेंगे तुम्हारे जीवन के

जितने भी कष्ट है उसे र पर चलकर धीरे-धीरे

समाप्त होने लगेंगे और तुम्हारा जीवन

पूर्णता बादल जाएगा

तुम्हारे जीवन की दुख भारी स्थिति खत्म हो

चुकी है तुम्हारे केवल कुछ कर्म और बाकी

है उसके बाद सफलता तुम्हारे लिए निश्चित

है तुम्हें हर उसे कार्य में सफलता

प्राप्त होगी जी कार्य को तुम मेरा नाम

लेकर शुरू करो जी मुझे इस बात की बेहद

खुशी है की तुम्हारा दिल बहुत साफ है

तुम्हारे जीवन में अब अच्छे परिवर्तन आने

वाले हैं और जो तुमने इतना सब्र किया है

उसका फल तुम्हें प्राप्त होने वाला है

मेरे बच्चों तुम बहुत भाग्यवान हो क्योंकि

तुम मेरे प्रिया बच्चों में से एक हो मैं

तुम्हें बेहद प्यार करता हूं और अब मैं

अपना आशीर्वाद तुम्हें देकर जाता हूं की

जीवन में तरक्की करो हमेशा स्वस्थ रहो खुश

रहो तुम्हारा दिन मंगलमय हो

[संगीत]

Leave a Comment