22:22 🕉️ मां पार्वती मां काली 🕉️ तुम्हारी यह चिज़ मुझे आकर्षित कर रही है 🕉️

मेरे बच्चे मैं भली भांति जानती हूं कि तुम्हारी सोच कैसी है जैसी सोच तुम्हारी है यदि सब की ऐसी सोच हो जाए तो मेरे बच्चे पूरा

संसार स्वर्ग से काम नहीं होगा समस्याओं का नाम और निशान मिट जाएगा और किसी के साथ भी अत्याचार नहीं होगा मुझे ज्ञात है

कि तुम अपने हृदय में दया की भावना रखते हो तुम हर किसी के सहायक बन जाते हो चाहे वह दुख का हो या कोई कार्य का हो या

सुख का हो कोई कार्य हो तुम किसी को जानते हो अन्यथा नहीं जानते हो संसार में तुम कभी भी किसी को गलत सलाह नहीं देते हो अपने दूसरों की सहायता करते हो सारी सोच पर या बसा हुआ है कि तुम्हारे कारण किसी भी व्यक्ति को कष्ट नहीं होना चाहिए यहां

तक कि तुम किसी भी पशु पर भी अत्याचार कभी नहीं करते हो तुम्हारा ह्रदय इतना कोमल है कि तुम जीव को अपने समान समझते

हो चाहे वह कोई छोटा जीव क्यों ना हो मेरे बच्चे तुम सब लोगों की सहायता करते हो धरती पर जन्म लेने वाले हर व्यक्ति को कुछ ना

कुछ चाहिए होता है व्यक्ति की कुछ ना कुछ इच्छा होती है मेरे बच्चे छोटा बच्चा रहता है तो उसे खिलौने की इच्छा होती है जब थोड़ा बड़ा होता है तो उसे शिक्षा की इच्छा होती है और उससे भी बड़ा होता है तो उसे धन की इच्छा उत्पन्न होती है

Leave a Comment