America के Texas में आग का तांडव, अब अमेरिका के परमाणु हथियारों पर मंडराया खतरा! | Joe Biden | Texas

अमेरिका में एक बड़ा खतरा दस्तक देने वाला
है अमेरिकी राज्य टेक्स के जंगलों में

भयानक आग लग गई है जो तेजी से उस जगह की
ओर बढ़ रही है जहां अमेरिका परमाणु हथियार
बनाता है अगर आप की चिंगारी इस परमाणु
हथियारों की फैक्ट्री तक पहुंच गई है तो

इतनी तबाही मचे गी जंगल की आग टेक्स के एक
शहर से दूसरे शहर में तेजी से अब फैल रही
है आग ने अब तक राज्य के कई इलाकों को
अपनी चपेट में ले लिया है आग की विनाश
लीला टेक्सस के पेन हैंडल क्षेत्र में

सबसे ज्यादा देखने को मिल रही है लेकिन इस
आग से लोग इतने खौफ में नहीं जितना आने
वाले एक बड़े खतरे से हैं टेक्स के एक
यंत्र में अमेरिका ने सिर्फ परमाणु हथियार

बनाता बल्कि यहां उसने कई परमाणु बम भी
रखे हुए हैं परमाणु हथियार फैक्ट्री
टिंग्स प्लांट टेक्सेस के पेन हैंडल
क्षेत्र में स्थित है और क्षेत्र के

अमरेलो शहर से मात्र 34 किमी दूर है लेकिन
इसके आसपास के इलाकों में आग फैल गई है
जिस वजह से पेंटिंग्स प्लांट को फिलहाल
बंद करना पड़ा है अमेरिका को चिंता सता
रही है कि अगर तेजी से फैलती आग परमाणु
हथियार कारखाने तक पहुंची तो ऐसी तबाही मच
सकती है जैसा कि जापान की हिरोशिमा में
देखने को मिली थी पेटेंस प्लांट में

परमाणु हथियारों का जखीरा रखा है और अगर
इन जखर तक एक भी चिंगारी पहुंची तो क्या
होगा इसका फिलहाल अंदाजा भी नहीं लगाया जा
सकता टेक्सस स्थित पेंटिंग्स प्लांट

अमेरिका की प्रमुख परमाणु हथियार फैक्ट्री
है यहां परमाणु हथियारों का उत्पादन किया
जाता है साथ ही अमेरिका यहां 1975 से अपने
परमाणु हथियार का भंडारण करता रहा है इसके
अलावा विशेष परमाणु सामग्री का परीक्षण भी

किया जाता है पेंटिंग्स प्लांट फिलहाल b61
12 बम का उत्पादन किया जा रहा है अमेरिकी
मीडिया का यह भी दावा है कि यहीं पर
अमेरिका

b61 13 परमाणु बम बनाने पर भी काम कर रहा
है इसके अलावा

w88 ऑल्ट 370 वरड का भी उत्पादन यहां किया
जा रहा है b61 अमेरिकी भंडार के सबसे बड़े
और सबसे शक्तिशाली परमाणु बमों में से से
एक है इसी सीरीज का बम है b61 122 और b61

13 अगर इन बमों तक आग पहुंची तो यह कितनी
तबाही मचा सकती है उसे भी हम आपको समझाते
हैं अमेरिका जिस b61 13 परमाणु बम को
बनाने पर काम कर रहा है वो हिरोशिमा में

गिराए गए परमाणु बम लिटिल बॉय से 24 गुना
ताकतवर है लिटिल बॉय से 1945 के आखिर तक
140000 लोगों की मौत हो गई थी लिटिल बॉय
में करीब 64 किग्रा यूरेनियम का इस्तेमाल

किया गया था जबकि 20 6113 परमाणु बम में
प्लूटोनियम होगा और इसका वजन 360 किलो टन
होगा b 6113 परमाणु बम अगर कहीं फटता है
तो करीब 6.5 किमी तक आग फैले गी 100 किमी
के दायरे में आने वाली जमीन पूरी तरह तबाह
हो जाएगी विशेषज्ञों की माने तो जब 300

किलो टन से ज्यादा वजनी परमाणु बम फटेगा
तो उसके बाद कम से कम 6 घंटे तक आग की
विनाश शलता चलती रहेगी अनुमान के मुताबिक
b61 13 के विस्फोट से कुछ ही घंटों में
में 10 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो
सकती है जबकि इससे दोगुने बुरी तरीके से

झुलस सकते हैं इसके अलावा टेक्सस के
परमाणु हथियार फैक्ट्री में प्लूटोनियम भी
रखा है जिसमें अगर आग लग गई तो सामूहिक
विनाश हो सकता है अमेरिकी परमाणु हथियार
फैक्ट्री में 20000 से ज्यादा प्लूटोनियम
कोर रखा है 1 किलोग्राम प्लूटोनियम का

विस्फोट 10000 टन से ज्यादा रासायनिक
विस्फोटक के बराबर होता है इसको हम ऐसे भी
समझ सकते हैं जापान के नागासाकी में 19 45
में फैट मैन नाम का परमाणु बम गिराया गया
था फैट मैन में प्लूटोनियम का इस्तेमाल

किया गया था और उसका वजन
4670 किग्रा था यानी नाका साकी में गिराए
गए बम में इस्तेमाल प्लूटोनियम से कई गुना
ज्यादा प्लूटोनियम पेंटेंस प्लांट में रखा
है नागासाकी में गिराए गए परमाणु बम से तब
करीब 74000 लोगों की मौत हो गई थी लेकिन

अगर टेक्सस में रखे प्लूटोनियम तक जंगल की
आग पहुंचती है तो लाखों लोग मारे जा सकते
हैं यानी बड़ा खतरा टेक्स में धधकती आग
नहीं बल्कि पेंटेंस प्लांट में रखे परमाणु
बम और प्लूटोनियम है जिससे बचाने के लिए
युद्ध स्तर पर रणनीति बनाई गई है अमेरिका
ने दावा किया है कि परमाणु सामग्रियों को

आग से फिलहाल कोई खतरा नहीं है लेकिन अगर
आग ने और भेव रूप लिया तो अमेरिका के
इतिहास के सबसे बड़ी त्रासदी देखने को
मिलेगी खर इसको लेकर आप क्या सोचते हैं
कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं
धन्यवाद

Leave a Comment