BJP रिपोर्ट लीक , हार तय ! MODI – SHAH चित चुनाव रद्द ?

दोस्तों इस वक्त की एक बहुत बड़ी खबर आप
तक पहुंचा रहा हूं दरअसल एक बहुत बड़ी
रिपोर्ट लीक हो गई है यह रिपोर्ट ऐसी है
जिसने भारतीय जनता पार्टी के खेमे में
हड़क बचा दिया है इस रिपोर्ट के अंदर

इंडिया गठबंधन को लेकर ऐसी बातें लिखी हुई
हैं जिसे सुनने के बाद बीजेपी बेचैन हो
उठी है कई राज्यों में ऐलान भी किया जा
सकता है कि भारतीय जनता पार्टी अपनी साख
बचाए रखने के लिए वहां से चुनाव नहीं
लड़ेगी जी हां देश के अलग-अलग हिस्सों में

सरकार बनाने वाली बीजेपी उन राज्यों में च
चुनाव नहीं लड़ सकती है इस बात का ऐलान
खुद बीजेपी कर सकती है और यह बात मैं
क्यों कह रहा हूं क्योंकि एक ऐसी
कॉन्फिडेंशियल रिपोर्ट सामने आई है जो

अचानक से लीक हुई और पूरे देश में अड़का
मच गया है नमस्कार मैं हूं पपाल गौतम और
आप देख रहे हैं टाइम्स एक्सप्रेस आज की एक
बहुत बड़ी खबर आप तक पहुंचा रहा हूं वैसे
तो हर कोई जानता है कि भारतीय जनता पार्टी
वहीं वहीं सत्ता में आ पा रही है

 

जहां-जहां सीधी टक्कर उसकी कांग्रेस
पार्टी से यानी क्षेत्रीय पार्टियों के
सामने कांग्रेस पार्टी पार्टी की ना होने
की वजह से यानी क्षेत्रीय पार्टी है तो
भारतीय जनता पार्टी की दाल गल नहीं पा रही

है पहले मैं सिलसिलेवार तरीके से वो राज्य
बता देता हूं और उसके बाद आज आपको वो
रिपोर्ट दिखाने जा रहा हूं सबूत के साथ
दिखाऊंगा कि कई राज्यों से बैकफुट कर सकती
परा सकती है बीजेपी या फिर बीजेपी ऐलान कर
सकती है कि हम वहां से चुनाव ही नहीं

लड़ेंगे कैसे मैं बताता हूं पहले तो समझिए
कौन-कौन से वो राज्य हैं जहां पर
क्षेत्रीय पार्टियां बैठी हुई है और
भारतीय जनता पार्टी बिना उनके सपोर्ट के
या बिना क्षेत्रीय पार्टियों को तोड़े
बीजेपी की दाल गल नहीं रही है पहला नंबर

जम्मू कश्मीर जहां पर पीडीपी के सहयोग से
सरकार में आई थी बीजेपी याद करिएगा वही
पीडीपी जो अलगाववादी हुआ करती थी बीजेपी
के मुताबिक लेकिन सत्ता के लिए पीडीपी के
साथ हाथ मिलाया और सरकार में आई थी बाद
में हट गए और उसके बाद वहां पर राष्ट्रपति
शासन लग गया इसके अलावा आप देखिए पंजाब

में आइए शिरोमणि अकाली दल शिरोमणि अकाली
दल भी क्षेत्रीय पार्टी है जब तक बीजेपी
के साथ शिरोमणि अकाली दल रही बीजेपी सत्ता
में रही जैसे ही दोनों के बीच का गठबंधन
टूटा आज आज तक भारतीय जनता पार्टी पंजाब
में सत्ता में नहीं आई हरियाणा में जब तक
इनेल यानी इंडियन नेशनल लोकदल सक्रिय थी

तब तक बीजेपी की हिम्मत नहीं थी वो सत्ता
में आ जाए जरूर इंडियन नेशनल लोकदल को
एनडीए में शामिल करा के या दूसरे तरी
बैसाखी के तौर पर इस्तेमाल करते हुए सत्ता
में आए और आज भी यही हालात है दुष्यंत

चौटाला आज बैसाखी बने हुए हैं खट्टर सरकार
की उत्तर प्रदेश में खासतौर मैं उत्तराखंड
का सिकर इसलिए नहीं कर रहा क्यों वहां पर
कोई ऐसी ताकतवर क्षेत्रीय पार्टी नहीं है
उत्तर प्रदेश में जब तक समाजवादी पार्टी
के परिवार के अंदर फूट नहीं हुई थी यानी
चाचा भतीजे अलग नहीं हुए जो प्रतीक यादव

है मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे हैं
उनकी पत्नी जब तक बीजेपी में नहीं आई तब
तक बीजेपी की दाल नहीं गल पाई थी तो उसी
के बाद बीजेपी सत्ता में आई यानी परिवार

को तोड़ कर आई यही बिहार के अंदर है यही
अलग-अलग राज्यों में बीजेपी करती रही है
लेकिन इस बार एक बहुत बड़ा गठबंधन हुआ
नीतीश कुमार उस गठबंधन से बाहर निकले लगा
कि बहुत बड़ा झटका है लेकिन नहीं अब ये

रिपोर्ट देख लीजिए बहुत बड़ा सर्वे और ये
इंटरनल रिपोर्ट है ये रिपोर्ट किसी और की
नहीं अबब आप नाम पढ़ेंगे तो खुद ही जान
जाएंगे कि बीजेपी क्या करने जा रही है इसे
तन्मय ने ट्वीट किया है तन्मय नाम की
twitter4j पी नहीं एनडीए जिम उसके वो और
उसके सहयोगी दल जिसमें से 210 सीटें

बीजेपी जीतेगी और उसके अलायंस जीतेंगे
मात्र 11 सीटें यानी बीजेपी को 94 सीटों
का घाटा होगा और उसके अलायंस को 19 सीटों
पर वहीं इंडिया गठबंधन के बारे में बताया

गया कि 543 सीटों में से 272 सीटें इंडिया
एलायंस जीतने जा रही है जिसमें कांग्रेस
110 58 सी सीटों का फायदा होगा और एलायंस
160 162 यानी 69 सीटें ज्यादा एलायस
जीतेगा आदर्स भी जीतेंगे जिसमें से 50
सीटें अदर्स

जीतेंगे इसमें बीजू जनता दल है टीडीपी
टीडीपी का जिक्र मैं भी करने जा रहा हूं
आपको बताने जा रहा हूं क्या फैसला लेना
पड़ा ये रिपोर्ट आने के बाद बीजू जनता दल
15 सीटें जीत सकती है आदर्श में से और
तेलगु देशम पार्टी जो आंध्र प्रदेश की
पार्टी है चंद्रबाबू नायडू की वो 14 सीटें

जीतने जा रही है कई भी रीजनल पार्टीज है
जिसमें एआई एम आईएम ये तमाम है तो 21
सीटें य जीतने जा रहे हैं अब आपको असली
तस्वीर दिखाने जा रहा हूं अलग-अलग जगह से
सबसे पहले आइए इलेक्शन 2024 सीट एनालिसिस
ये टीबीएस मीडिया ईगल रिसर्च एनालिसिस ने

किया सबसे पहले शुरुआत करते हैं ईस्टर्न
स्टेट से इसमें पांच राज्य इन्होंने रखे
हैं जिसमें बिहार है झारखंड है इसमें आप
जाकर देख लीजिए उड़ीसा भी है पश्चिम बंगाल
है यानी इसके हिसाब से देखा जाए तो 128
सीटें आती है पांच राज्यों में जो पूर्वी
राज्य है पूर्व पू पूर्वी जो राज्य है

उसमें से 128 सीटों में से 38 सीटें
जीतेगी सिर्फ एनडीए जिसमें से 34 सीटें
बीजेपी और जनता दल यूनाइटेड के साथ जो
उनका अलायंस हुआ है कुल मिलाकर चार सीटें
जीतने जा रहे हैं यानी 29 सीटों का घाटा
होने जा रहा है इंडिया गठबंधन जो है 75
सीटें जीतने जा रहा है इन पांच राज्यों

में जिसमें मैंने बताया बिहार झारखंड अभी
बिहार में जो कुछ किया उसका खामियाजा
भुगतना पड़ रहा है ये अंदर खाने की
रिपोर्ट है और इसके बाद एक बहुत बड़ा
फैसला लेना पड़ा है वो भी दिखाऊंगा आपको
यानी इन पांच राज्यों में हालत खस्ता हो

गई है 75 सीटें इंडिया एलायस जीतने जा रहा
है और 38 सीटें एनडीए आदर्श भी जीतेंगे
लेकिन 15 सीट है अब आ जाइए जरा नॉर्थ स्टे
नॉर्दर्न स्टेट की देख लेते हैं पहले

इसमें आठ स्टेट्स
हैं नॉर्दर्न स्टेट में आठ है जिसमें
उत्तर प्रदेश है राजस्थान है उत्तराखंड है
हरियाणा है ये इसके साथ-साथ जम्मू कश्मीर
है इन राज्यों की को मिलाकर कुल आठ सीटें

होती आठ स्टेट होते हैं और तीन केंद्र
शासित प्रदेश है तीन केंद्र शासित प्रदेश
का मतलब आप समझ लीजिए जम्मू कश्मीर
चंडीगढ़ और एक और राज्य दिल्ली जिसमें
इनमें कुल 180 सीटें आती हैं बताया गया कि
एनडीए जिस जो बीजेपी के साथ अलायंस करे
हुए हैं कुल 113 सीटें जीतेंगे जबकि

इंडिया एलायंस में शामिल लोग 62 यहां भी
यानी यहां पर इनको फायदा होता हुआ नजर आ
रहा है खासकर उत्तराखंड की वजह से खासकर
इनको दिल्ली की वजह से और उत्तर प्रदेश
में चूंकि 80 सीटें हैं तो इनको फायदा

यहां पर होता हुआ नजर आ रहा है 113 सीटें
जीत रहे हैं अब आ जाइए दक्षिण भारत में
हालत खस्ता है पहले से ही खस्ता थी और अब
भी खस्ता है और इसी की वजह से उन्हें एक
कदम उठाना पड़ा है दक्षिण भारत के अंदर आप
देखिएगा इसमें आंध्र प्रदेश तेलंगाना केरल
अ कर्नाटक तमिलनाडु ये राज्य हैं कुल

मिलाकर पांच राज्यों के लेकर जोखा है और
बताया गया है कि यहां पर 132 सीटें हैं इन
132 सीटों में से मात्र 18 सीटें बीजेपी
जीतने जा रही है जबकि इंडिया गठबंधन को 86
सीटें मिलने जा रही है 132 में से और
आदर्श 28 सीटें यानी अन्य जो अलग होकर इन
एलायंस के साथ उनका कोई गठबंधन नहीं है तो
वो 68 28 सीटें जीत रहे हैं अब आ जाइए
वेस्टर्न स्टेट्स हैं इसमें 78 सीटें आती

हैं 40 एनडीए 38 यहां पर यानी बराबर की
लड़ाई और अदर्स के खाते में कुछ नहीं अब
आइए नॉर्थ ईस्ट के जो है जिसमें खासकर
मणिपुर का जिक्र करूंगा दोस्तों मणिपुर के
बाद मिजोरम सिक्किम अलग-अलग के साब जो
पूर्वोत्तर के राज्य है वहां बीजेपी के

खिलाफ माहौल बना हुआ है यही एक वजह है कि
जब मिजोरम में चुनाव हुआ तो मणिपुर की
घटना के बाद विरोध देखते हुए ना मोदी गए
और ना शाहबाबू गए दोनों प्रचार के लिए
नहीं गए थे म्यूज रम को छोड़ दिया गया था
अब नॉर्थ ईस्ट में आते हैं आठ स्टेट्स

जिसमें 25 सीटें बनती है कुल मिलाकर 12
सीटें एनडीए के खाते में जाएंगी और 11
सीटें इंडिया एलायंस के खाते में जा रही
है और अदर्स के खाते में दो सीटें जा रही
है तो कुल मिलाकर ये पूरा लेखा चुका है अब
मैं आपसे कह रहा था ना कई राज्यों में
क्या होने जा रहा है तो बताए जा रहा है कि
दक्षिण भारत में चुनाव लड़ने से बचती नजर
आएगी बीजेपी पूर्वोत्तर के कुछ एक राज्य

छोड़ दीजिए इसमें असम है एक दो राज्य छोड़
दीजिए बाकी अन्य राज्यों में चुनाव लड़ने
से बचेगी इसके साथ ही टीडीपी यानी
चंद्रबाबू नायडू को कल तक भ्रष्टाचारी कई
बातें बताते रहते मोदी बहुत बार-बार मोदी
जी बार-बार चंद्र बाबू नायडू अभी जेल में
भी चले गए ये तमाम चीजें हुई सीबीआई ने

गिरफ्तार किया ये तमाम चीजें हुई लेकिन अब
उसी टीडीबी के साथ गठबंधन कर लिया है
क्योंकि मालूम है कि दक्षिण भारत में कम
से कम कहीं तो वजूद बचना चाहिए खबर यह भी
है कि बीजू जनता दल के साथ एनडीए बीजेपी
हाथ पैर जोड़कर अलायंस करने के मूल में है
यानी कई राज्यों से बीजेपी का सूपड़ा साफ
होने जा रहा है नमस्कार

Leave a Comment