CBI के छापे पर मोदी पर बरसे Satyapal Malik, सारे राज खोल दिए!

नमस्कार मैं हूं संजय शर्मा आप देख रहे
हैं 4 पीएम न्यूज नेटवर्क दो लाइन सुनाता
हूं बहुत

अच्छी राजा ने कहा रात
है राजा ने कहा रात है मंत्री ने कहा रात
है रानी ने कहा रात है संत्री ने कहा रात
है और यह सुबह सुबह की बात है
मतलब राजा जो कहे व सुबह को कहे व रात को
कहे राजा जब कहे जो कहे वही सत्य
है राजा की शान में

गुस्ताखी राजा की मर्यादा में गुस्ताखी यह
राजा को बर्दाश्त नहीं है और राजा हमारे
साहिब जैसा हो राजा इस दौर की हुकूमत जैसा
हो तो फिर एक मामूली गवर्नर की हैसियत
क्या है

जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल
मलिक को आंखें बंद करके उन 300 करोड़ की
फाइल पर साइन कर देना चाहिए था जो अनिल
अंबानी और संघ के प्रचारक रहे राम माधव की
जुगल जोड़ी कराना चाहती थी अच्छा फल आप सर

ने बताया कि साब इसमें आपको 300 करोड़ तक
की रिश्वत मिल जाएगी अब बताइए क्या सतपाल
मलिक की मा पत्थर पड़े हुए थे 300 करोड़
की रिश्वत मिलनी थी गवर्नर के गवर्नर रहते
और बड़े राज्य के गवर्नर बन जाते दो तीन

राज्यों का और चार्ज मिल जाता जम्मू
कश्मीर के गवर्नर हो जाते पंजाब के हो
जाते राजस्थान के हो
जाते साहेब की आंखों में दुलारे बनते आपकी
पूरी कायनात बत
जाती लेकिन क्या कहा जाए इनको कहा जाता है

ना जाट बुद्धि मतलब अकड़ होते है जाट
झुकता नहीं है जाट अपनी बात पर आ जाए तो
वो झुकता नहीं है तो जाट बुद्धि उनको लगा
यह कश्मीर के संग य बेईमानी हो रही है
धरती का स्वर्ग कहा जाता है भारत का

प्रचारक और अंबानी बेईमानी कर रहे हैं तो
साहब ने उस फाइल को रिजेक्ट कर
दिया मैं गया जब इंटरव्यू करने के लिए
सतपाल मलिक का तो मैंने पूछी कहानी पूरी
उनसे सतपाल मलिक ने कहा जब मेरे सामने यह
फाइल आई इंश्योरेंस कंपनी से जम्मू कश्मीर

के इंश्योरेंस वालों से जुड़ी हुई फाइल थी
तो उस मेरे अफस ने बताया कि इसमें आपको 00
करोड़ तक मिल जाएंगे रिश्वत मिल जाएंगी
रकम मेरे ल से इतनी बताई थी मैं थोड़ा सा
भूल रहा हूं हो सकता है थोड़ा आगे पीछे

लेकिन सैकड़ों करोड़ में थी तो गवर्नर
बोले भाई मैं ऐसा कोई काम नहीं करना
चाहता जिसमें इस तरह के रिश्वत की बू और
यह तो सीधा सधा कश्मीर के कर्मचारियों के

इंश्योरेंस का मामला है और उन्होंने फाइल
रिजेक्ट कर दी बाद में सतपाल मलिक ने
मुझसे मेरे इंटरव्यू में बताया कि सुबह ही
सुबह 6 बजे
राम माधव संघ के बड़े

प्रचारक समझ लीजिए आप संघ मतलब राष्ट्रीय
स्वयंसेवक संघ जो दिन रात कहता है कि हम
राष्ट्र के लिए समर्पित हैं हम भारत माता
के लिए समर्पित है हम इस देश के सर्वांगीण
विकास के लिए समर्पित है राम माधव जैसे
वरिष्ठ प्रचारक को कश्मीर भेजा गया था

कश्मीर को स्वर्ग बनाने के लिए कश्मीर के
लोगों का विकास करने के लिए लेकिन राम
माधव जी अपना ही विकास करने में जुड़ गए
भी अंबानी भाइयों के साथ जुट गए अनिल
अंबानी की कंपनी के लिए पेशकश करने पहुंच
गए अब इतना बड़ा हेरफेर और गवर्नर मना कर

दे समझ लीजिए साहिब राजा ने कहा रात है
राजा ने जब कहा रात है तो रानी ने कहा रात
है सेनापति ने क रात है संत्री ने क रात
है यह सुबह सुबह की बात है जैसे मैंने
शुरू में आपको बताया तो राजा के हुकम की

इतनी इतनी ज्यादा
लापरवाही सतपाल मलिक ने कहा
किसान आंदोलन चल रहा था राजा से कहा कि आप
इन किसानों से बात कर लीजिए आप जानते नहीं
किसान है यह अपनी जान हथेली में लेकर चलते
हैं बहुत भारी पड़ जाएगा राजा ने बात नहीं

करी सत्यपाल मलिक गवर्नर से दिल्ली में आ
गए वही गवर्नर जब कश्मीर में थे तो धारा
370 का फैसला उन्हीं के काल में हुआ सोचिए
आप कितने हाई जोन सिक्योरिटी में रहना
चाहिए ऐसे आदमी को जिसके राजपाल रहते हुए
धारा 370 का अध्यादेश पास हुआ

लेकिन एक गार्ड भी नहीं दिया
गया एक सिपाही भी नहीं दिया गया जब मैं
उनके घर इंटरव्यू करने पहुंचा तो एक फ्लैट
था मुझे लगा कि मैं किसी गलत जगह आ गया
टूटा फूटर सा फ्लैट था घंटी बजाई बाहर कोई
होम गार्ड भी नहीं मुझे लगा यह सतपाल मलिक

ज से आदमी का घर कैसे हो सकता है इतना हाई
सिक्योरिटी वाले का सत्यपाल मलिक ने के
व्यक्ति ने को सहायक ने दरवाजा खोला मैंने
संकु चाते हुए पूछा कि क्या सतपाल मलिक जी
का घर है तो वो अंदर ले गए मैंने उनका

इंटरव्यू किया मैं चौका यहां तक नहीं इस
शिकायत के बाद जब मामला तूल पकड़ा पूरी
दुनिया में यह बात फैली कि सतपाल मलिक ने
य आरोप लगाया है कश्मीर के अंदर करोड़ों
रुपए की हेराफेरी का संघ प अंबानी प आरोप
लगाया तो मामला सीबीआई पर गया अब आप बताइए
मुझे आप मेरे बड़े श्रोती बड़े अच्छे सुधी

मेरे दर्शक है क्या करना चाहिए था सीबीआई
को सीबीआई को राम माधव को बुलाना चाहिए था
अंबानी के कंपनी को बुलाना चाहिए था अनिल
अंबानी को बुलाना चाहिए था पूछना चाहिए था

यह 300 करोड़ जो रिश्वत देने की बात आई य
300 करोड़ लाते कहां से ऐसा नहीं हुआ
उल्टा आज पता चला कि सतपाल मलिक के घर पर
छापे मारे जा रहे हैं सतपाल मलिक गंभीर
बीमार है अस्पताल में भरती है लेकिन उनके
घर पर तोता जो है सीबीआई जो है वह छापे

मार रही है आप कल्पना करिए एक पूर्व
राज्यपाल भर्ती है एडमिट है और सीबीआई
उसके घर पर छापे मार रही है क्योंकि उसने
इतना बड़ा गुनाह किया था उसने सच बोल दिया
था आज इस खबर ने सबको विचलित कर दिया और

 

तब समझ में आया क्योंकि किसान आंदोलन फिर
शुरू हो गया लगातार सतपाल किसानों के पक्ष
में बयान दे रहे थे तो उनकी जवान बंद करने
के लिए एक ही चारा है कि राम माधव अनिल
अंबानी की जगह उनसे पूछताछ की जाए मैं एक

खबर अमर जाला में छपी है उसका मैं पढ़ के
आपको सुना रहा हूं यह खबर है बागपत में
पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक की हवेली पर
सीबीआई का छापा किसी के भी बाहर जाने पर
रोक गवर्नर रहे राम सत्यपाल मलिक के आवास
पर सीबीआई ने आज सुबह छापेमारी की है
पुरानी हवेली में पहुंची है किसी के भी
अंदर और बाहर जाने पर रोक लगा दी गई है

बागपत में पत्रक गांव हिसाब द में सुबह ही
सीबीआई उनके घर पर पहुंच गई और राजपाल
सतपाल मलिक की यहां पुरानी हवेली है जरजर
हालत में है य सीबीआई की टीम ने परिवार के

सतवीर मलिक और हिटलर के घर पहुंचकर बातचीत
की सतपाल मलिक की संपत्तियों और अन्य
जानकारी जुटा रही है कि क्या-क्या
प्रॉपर्टी है उनके और किसी को भी अंदर

घुसने से मना कर दिया गया है और यह खबर आई
है कि सतपाल मलिक के उनके सहयोगियों के 30
से ज्यादा ठिकानों पर छापामारी करी है और
दिल्ली में भी यह छापे चल रहे हैं और बहुत
यह जो मामला है सीबीआई ने हाइड्रो पावर

प्रोजेक्ट के मामले में य छापा मारा है बी
बीमा घोटाले में सीबीआई मलिक के खिलाफ
पहले भी पूछताछ कर चुकी है मलिक ने कहा था

मुझसे पूछताछ तब कर जब पहले अनिल अंबानी
और राम माधव से पूछताछ कर लो 2019 में
किश्तवाड़ कश्मीर में किरू हाइड्रो पावर
प्रोजेक्ट के लिए 2200 करोड़ का सिविल काम
का ठेका देने के में भ्रष्टाचार हुआ था और
मलिक पर यह था कि मलिक को मलिक जी ने कहा

था कि उन्हें इन काम के लिए 300 करोड़
रुपए की रिश्वत की पेशकश की अब आप सोचिए
क्या देश है ये आजादी का कैसा अमृत काल है

जो गवर्नर 300 करोड़ की रिश्वत ठुकरा रहा
है सच सामने देश खिला रहा है उनके 30
ठिकानों पर आज सीबीआई छापा मार कर रही है
छापे डाल रही है वो गं गवर्नर गंभीर हालत
में अस्पताल में भर्ती है बहुत उमर है हो

गई है चलने फिरने में परेशानी है उनको और
बहुत दर्दनाक
है यह कि मुझे याद आता है कि पहले एक
पूर्व मुख्यमंत्री थे उनकी बेटी की शादी
हो रही थी अब आप सोचिए सत्ता कितनी निर्मम

है और राजनेता कितने निर्मम हो गए इस दौर
के दुश्मन की बेटी की अभी शादी होती है तो
मैं और आप उस बेटी के मंगल कामना की कामना
करते हैं और बेटी का घर अच्छा रहे यह कहते
हैं किसी दुश्मन की बेटी का भी हम और आप

कभी बुरा नहीं सोच सकते उसके काम में
व्यवधान नहीं सोच सकते मैं दावा कर रहा
हूं आप में से शायद ही कोई होगा जो दुश्मन
की बेटी की शादी हो रही हो और ये सोचे कि
यह बेटी बेटी की शादी में विघ्न हो जाए ये

माना जाता है कि कन्या की शादी हो रही है
तो आप जितना उसका सहयोग कर सको करो लेकिन
इसी सक्ता ने एक मुख्यमंत्री के य हिमाचल
में जब उसकी बेटी की शादी हो रही थी तो
वहां इनकम टैक्स के छापे पढवा दिए थे शादी

के दिन ये कौन लोग हैं यह कहां से आते हैं
यह अहंकार कहां से आता है मैं आज तक समझ
नहीं पाया समझने की कोशिश करता हूं दो खास
मेहमानों से जो आज के इस दौर में अपने सच

और रीड की हड्डी सीधा करने के लिए जाने
जाते हैं मैं परिचय करा रहा हूं प्रोफेसर
अखिल स्वामी जी से अखिल जी मैनेजमेंट के
प्रोफेसर रहे हैं हजारों लाखों बच्चों के
प्रेरणा का स्रोत रहे हैं नैतिकता की
उन्होंने प्रेरणा दिया लोगों को और अजय

शुक्ला जी एक ऐसा बहादुर पत्रकार जो उत्तर
प्रदेश के कई बड़े अखबारों में संपादक रहे
और कई चैनलों के और एक चैनल ऐसा था जिसके
18 चैनल राजल चैनल थे उनके ग्रुप एडिटर थे
अजय शुक्ला जी लेकिन जब उनसे कहा गया कि
सच

दिखाना जरूरी नहीं है थोड़ा कंप्रोमाइज
करिए सत्ता के खिलाफ मत जाइए तो उन्होंने
नौकरी छोड़ दी और कहा कि मैं पत्रकार हूं
मेरी कलम बिक नहीं सकती यह दो खास मेहमान
हैं मैं बातचीत शुरू करूं उससे पहले सतपाल
मलिक का वह छोटा सा इंटरव्यू का कुछ अंश
दिखाता हूं जो मैंने सतपाल मलिक से बात की
थी और जिसमें उन्होंने ये खुलासे किए थे

ना ज्यादा बड़ा था या फिर वास्तव में
कश्मीर को आतंकवाद से मुक्त कराना ज्यादा
बड़ा मुद्दा था नहीं आतंकवाद से मुक्त
कराने के लिए 370 नहीं हटाई थी 370 तो चकि
इनका प्लैंक था ये हर चुना नाव में बोलते

थे इनके घोषणा पत्र में था वो तो अपने
वोटर को अपीज करने का
था एक बड़ा मुद्दा बार-बार आपसे पूछा जाता
है हर इंटरव्यू में पूछा जाता है राम माधव
और अंबानी की फाइल्स का सीबीआई ने भी आपको
बुलाया और कई घंटे आपसे पूछताछ की
क्या-क्या पूछा आपने कुछ बता सकते हैं

देखिए जिनसे पूछताछ करनी चाहिए उनसे तो
करी नहीं हम मैं तो शिकायत करता था मेरे
से क्या पूछताछ करनी उनसे करो जिनका मैंने
नाम लिया उनसे नहीं किया अभी तक ह मेरे से
पूछा कैसे क्या बताया मैंने वो डायवर्ज
करना मेरे लिए ठीक नहीं
है आपका इशारा था कि राम माधव और अनिल

अंबानी से पूछताछ नहीं की गई करनी
चाहिए क्या गवर्नर लोगों को वास्तव में
इतने रुपए मिलते हैं जितने आपने बताया 00
करोड़ रुप फाइलर करने के लिए कश्मीर में
ट्रांसफर के 50 लाख रुप मिलते
हैं इतना पैसा है कश्मीर में कश्मीर में

इतना पैसा है और इतना ही करप्शन
है इस 370 के हटने के बाद कोई जानकारी है
करप्शन बढा है कम हुआ है मैं नहीं कह सकता

कक मैं तो एक महीने बाद चला आया था तो
कश्मीर में इतना इतना पैसा क्यों मिलता है
किस बात के लिए मिलता
है कमाते हैं लोग कश्मीर के जितने भी
फॉरेस्ट का जो चीफ है वो रिटायर हुआ

महारानी बाग में बंगले मिलेंगे उनके
सब जो भी वहा डिपार्टमेंट के हेड है सबके
बंगले दिल्ली में मिलेंगे
आपको ये बात तो आपकी जानकारी में तब भी आ

गई होगी जब आप गवर्नर थे लेकिन मैंने जब
दोनों कैंसिल किए मामले उसके बाद से पैनिक

हो गया था डर हो गया था फिर कम हो गया था
करप्शन बीजेपी मानती है आप बड़े खुराफाती
टाइप के गवर्नर है आप गोवा में थे तो गोवा
में आपने चीफ मिनिस्टर की ढेर सारी शिकायत

कर दी सच्ची की थी लेकिन वो पनिश मुझको
किया उसको तो किया नहीं जो बिल्कुल सही
शिकायतें थी वो थी वहां क्या था
मामला ठीक नहीं
है प्राइम मिनिस्टर कहते हैं कि उनको
भ्रष्टाचार बहुत बुरा लगता है नफरत है
प्रधानमंत्री जी कोरा अंदाज है उनको उतना

बुरा नहीं लगता उनको अपने आदमी का
भ्रष्टाचार ठीक लगता है दूसरों का खराब
लगता है अपने आदमी को छूट दी जाती
है अखिल स्वामी जी इस इंटरव्यू को देखने

के बाद मुझे आपसे कोई सवाल पूछने की जरूरत
नहीं है बस मैं आपको सुनना चाहता हूं
देखिए संजय जी पहली बात तो सतपाल मलिक जी
ने दो गलतियां कर दी जिसकी वजह से आज यह
हो रहा है पहली गलती उन्होंने यह कर दी कि
अनिल अंबानी जी के बारे में जब उन्होंने
कहा यह भूल गए कि वह गुजरात के रहने वाले
हैं अनिल
अंबानी देखिए आप अडानी जी अंबानी जी के
बारे में अगर कुछ कहेंगे तो इस प्रकार की
चीज होगी बाकी आपका कितना पाक दामन साफ हो
तो असली जो सतपाल मलिक की जि बात जो चुभ
गई मोदी जी को वह कि गुजरात के बंदे आपने
देखा क्या पिछले 10 साल में गुजरात के
कहीं पर कोई सीबीआई और ईडी की रेड हुई
हो उत्तर प्रदेश वालों की क्या रेड हो गई
बिहार वालों की क्या हो गई महाराष्ट्र वा
लो क्या हो गई तमिलनाडु वालों क्या हो गई
वेस्ट बंगाल वालों क्या हो गई पूरे
हिंदुस्तान में हो गई गुजरात में रेट सुनी
आपने क्या अपोजिशन प भी रेड नहीं सुनी
नंबर एक नंबर दो जो सतपाल मलिक जी ने यह
कह दिया और अभी लेटेस्ट अभी कुछ दिन पहले
ही उन्होंने कहा कि 5 साल के अंदर पुलवामा
के अंदर यह नहीं पता चला कि आरक्स आया
कहां से
था जांच कराई गई
क्या जांच में क्या पाया यह आरडीए आई क्या
और जब सतपाल मलिक जी ने बताया कि वह जीप
घूम रही थी 1015 दिन से घूम रही थी मेरे
पास सूचना आ रही थी आर्मी वाले कह रहे थे
कि हमारे को शिफ्ट करने के लिए हवाई जहाज
को भेजा जाए और उसके बाद यह मांग नहीं
मानी गई और इंटरसेप्ट नहीं किया गया उस
जीप को उ जीप ने जाकर सीधे एक ट्रक के
अंदर धमाका कर दिया हमारे वीर जवानों की
शहादत हो गई देखिए यह इतना बड़ा प्रश्न है
पिछली बार तो शहादत का फायदा उठाया खून का
फायदा उठाया चुनाव जीत गए लेकिन संजय जी
यह सोचिए कितना बड़ा प्रश्न उठा दिया था
सतपाल मलिक
में क्योंकि यह देश की सुरक्षा और देश के
जवानों का प्रश्न है अब मुश्किल क्या है
बीजेपी के साथ देखिए बीजेपी जो है वह
नैरेटिव को चेंज करती
है एक नैरेटिव उन्होंने चेंज किया था जयन
चौधरी को अपनी तरफ लाने का कि भाई देखिए
अब तो सारे जाटों के नेता हमारी तरफ आ गए
नीतीश कुमार का फिर उसके बाद बताया कि
इंडिया गबन टूट रहा है सब लोग बीजेपी में
आ रहे हैं अब मुश्किल क्या हुई कि जो
पंजाब के अंदर हो रहा है ज किले गाड़ी गई
जहां पर चट्टाने खड़ी की गई वहां पर एक
नैरेटिव बन रहा है यह तो किसान विरोधी है
यह तो पहले मुसलमानों को अलग करते हैं फिर
क्रिश्चन को अलग करते हैं अब सिक्कों को
अलग करते हैं फिर किसानों को अलग करते हैं
फिर यादवों को अलग करते हैं फिर जाटों को
अलग करते हैं अरे भैया सबको अलग कर दोगे
तो देश में बचेगा कौन पूरे देश को तुम
छिन्न भिन्न कर दोगे क्या अच्छा जैसे आपने
कहा कि जाट झुकता नहीं है देखिए जाड़ भी
दो प्रकार के होते हैं जैसे हिंदू दो
प्रकार का होता है हिंदुस्तानी दो प्रकार
का होता है मुसलमान दो प्रकार का होता है
वैसे जाट भी दो प्रकार के होते हैं देखिए
हम आप जितने बैठे हैं सब हम लोग जो है
देशभक्त हिंदुस्तानी हैं हम चाहते हैं देश
के अंदर एकता हो संगठन हो सब धर्म और
संप्रदाय और जातियां मिलकर काम करें और एक
प्रकार के वो हिंदुस्तानी होते हैं जो
हिंदुस्तानियों को बांटने का प्रयास करते
हैं साउथ और नॉर्थ के बीच में बांटने का
प्रयास करते हैं हिंदू मुसलमान सिख ईसाई
जहां यादव जाट जो उन्हें लगता है कि हमारे
खिलाफ है उसके खिलाफ वो दुष्प्रचार करना
शुरू कर देते हैं इसी प्रकार जाट भी दो
प्रकार के हैं देखिए एक है चौधरी देवीलाल
हुआ करते थे चौधरी छोटूराम हुआ करते थे
चौधरी चरण सिंह हुआ करते थे वो थे जाट
जिनको हम कहते हैं जो हमारे क्षेत्र में
जिनका मान सम्मान था और एक जाट है जैन
चौधरी जो कहते थे कि साहब चवन्नी नहीं हुआ
वो चवन्नी भी चल गए आज की तारीख में और अब
सोनिए जैन चौधरी की राजनीति की समझ चौधरी
चरण सिंह की राजनीति मैंने देखी अजीत सिंह
की राजनीति मैंने देखी जैन चौधरी की
राजनीति अब यह निर्णय नहीं ले पा रहे कि
एनडीए में जाऊ या इंडिया में आ
जाऊ अब उनकी सारी चौधरा ठंडी हो गई
क्योंकि वेस्टर्न यूपी के अंदर संजय जी आज
की स्थिति यह है सतपाल मिलिक हॉस्पिटल में
भर्ती भी अगर चुनाव लड़
जाएंगे उनके अपोजिशन वाले की जमानत जपत हो
जाएगी आज के तारीख में जिस प्रकार से उनको
बदनाम करने का इन्होंने प्रयास किया है
सतपाल मलिक को पूरे हिंदुस्तान की
सहानुभूति मिलेगी अब ये नैरेटिव चेंज करना
चाह रहे थे कि हरियाणा ने पंजाब के अंदर
घुस के कैसे कीले गाड़ दी अब नैरेटिव चेंज
हो गया और आपके जितने कमेंट्स में देख रहा
हूं आपके श्रोता और दर्शक देख रहे हैं
सारे के सारे सतपाल मलिक जी के साथ अपनी
सद्भावना और उनके साथ एकजुटता दिखा रहे
हैं बीजेपी के सपोर्टर्स भी आज की तारीख
सदमे में है संजय जी उधर नीतीश कुमार फिर
पलटी मारने के चक्कर में अखिलेश यादव और
राहुल गांधी का जो समझौता हुआ है और राजा
भैया का उसका उसके अंदर इंक्लूजन हो गया
है और चंद शेखर के लिए भी सीटें हो गई है
महाराष्ट्र के अंदर भी मामला बढ़िया हो
गया है तो जहां पर एक प्रकार से लग रहा था
कि इंडिया गठबंधन टूट रहा है आज की तारीख
में ना तो अकाली दल की इतनी हिम्मत है कि
बीजेपी के साथ चली जाए पंजाब में जमानत
जबत करानी है प बा दो सीटें मिली थी एक भी
सीट नहीं मिलेगी अगर वो बीजेपी के साथ चली
जाएगी बीएसपी ने अकाली दल का साथ छोड़
दिया पूरी तरह से बीजेपी गठबंधन जो मेरी
बात कहता हूं लोगों को आश्चर्य होता है
मुझे लग रहा है इंडिया गठबंधन की रणनीति
और दो दिन के अंदर सजय जी आपको मुझसे
ज्यादा सूचना होंगी आप देखिएगा दिल्ली में
भी समझौता हो जाएगा अरविंद केजरीवाल का और
यह मैं जानता हूं क्योंकि दिल्ली के बास
बैठा हूं अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस का
समझौता अगर हुआ सात में से एक सीट को ये
बीजेपी नहीं जीतेगी पिछली बार सात की सात
मिली थी मोदी जी प्रधानमंत्री नहीं बन रहे
हैं डंके की चोट प नहीं बन रहे हैं गांवों
के अंदर किसान कील ठोक देंगे ऐसे ही
बोल्डर लगा देंगे ट्रैक्टर्स लगा देंगे
इनकी मर्सडीज और डी और फर अंदर नहीं घुस
पाएगी तो मुझे ऐसा लगता है कि सतपाल मलिक
की कद को इन्होंने बढ़ा दिया है और गुजरात
के अनिल अंबारी के कद को घटा
दिया बिल्कुल ठीक कह रहे हैं और बहुत खराब
है कि कोई व्यक्ति सच बोल रहा है तो सच
इतना चुबरा है व दो दो बहुत सुंदर लाइने
हैं समुद्र को यह बात समुद दर को यह बात
अखर गई एक कागज की नौक कैसे मेरे ऊपर चल
गई अजय शुक्ला जी क्या साहिब को बुरा लग
गया कि सच क्यों बोल दिया क्या इस देश में
लोकतंत्र के लिए यह उचित है कि कोई गवर्नर
300 करोड़ की रिश्वत ठुकरा रहा है सच बोल
रहा है बीमार है गंभीर हालत में है
हॉस्पिटल में एडमिट है उसके घर पर सीबीआई
के छापे डाले जा रहे हैं एक से एक बड़ा
भ्रष्टाचारी प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र
में सीना ठोक के कहा
कि 7 हज करोड़ का ज भ्रष्टाचार किया जेल
में देखेंगे 24 घंटे बाद महाराष्ट्र के
डिप्टी सीएम बन गए आज जो सतपाल मलिक के
साथ हो रहा है उस पर आपका क्या कहना है
पहली बात तो यह कि संजय जी नरेंद्र मोदी
को सच पसंद कब
था मैं तो आज के नरेंद्र मोदी को नहीं
जानता हूं मैं उस नरेंद्र मोदी को जानता
हूं जो संगठन मंत्री था चंडीगढ़ में और
मैं उन दिनों ब्यूरो चीफ हुआ करता था एक
अखबार
का निश्चित रूप से उस समय जब उनको कोई
पूछता नहीं था क्योंकि यहां पर तो वैसे भी
तब तो बीजेपी की कोई औकात नहीं
थी और स्थिति यह थी जब कोई नहीं पूछता था
तो मजबूरी में अरे थोड़ा सा ही छाप दो
कहीं नाम ही लगा दो कुछ कर दो तो आके
दसियों बार बैठते थे तो उस दौर का मैं
जानता हूं तो तमाम झूठे ड्रामे करते थे क
तो हम हम य क य तो बिल्कुल झूठ है क अरे
इसी बहाने कम से कम कोई लोग कुछ बोलेंगे
तो मेरा नाम तो
होगा तो आप समझिए उस तरह की सोच वाला
व्यक्ति क्या करेगा और क्या होगा आप समझ
सकते हैं और आपने खुद ही जब इंटरव्यू लिया
तो सतपाल मलिक साहब ने कहा ही कि वह किस
तरीके से वो तो निश्चित रूप से नरेंद्र
मोदी सरकार को
वो भ्रष्टाचारी ही प्रिय है और बहुत प्रिय
प्रिय नहीं है बहुत प्रिय है जो उनके अपने
हो
जाते और यदि मान लीजिए दूसरा व्यक्ति
भ्रष्टाचारी ना भी हो हल्का सा कहीं से
आरोप लगा दे वह खुद बिचारा शिकायत कर दे
तो उसको घेर लेंगे और वही हो रहा है सतपाल
मलिक नहीं तो साहब जो आदमी को पैसा लेने
की बजाय कह रहा है कि सबब हम ये उसकी
शिकायत कर रहा है उसका विरोध कर रहा है उस
आदमी के यहां सीबीआई रेड फिर तो यह समझ
में आता है कि हां क्या सोच है और क्या
करना चाहता है एक घटना का जिक्र करूंगा
अटल बिहारी वाजपेई की सरकार में शत्रुगन
सिन्हा शिपिंग मिनिस्टर थे और
उनके एक सेक्रेटरी हुआ करते थे सत्य गपाल
उन्होंने मुझे ये बात बताई उन्होंने कहा
कि एक कोई टेंडर से रिलेटेड कुछ मसला था
कि निकला था कई हजार करोड़ का प्रोजेक्ट
था तो उसके
लिए नेस बाडिया इंटरेस्टेड थे तो नेस
बाडिया ने बुलाया म मतलब मंत्री को बुलाया
और डायरेक्शन हुआ उन्हें ऊपर से कि आप
उनसे जाइए उनके प्रोजेक्ट को एक बार देखि
वो क्या करना तोव बताए कि हम गए उनके घर
में मुंबई में जब पहुंचे तो बड़ी देर तक
तो मतलब अंदर ही गाड़ी चली इतना बड़ा घर
है उसके बाद में घर में बड़ा भारी थिएटर
लगा था उसी में उनका
प्रेजेंटेशन दिया गया कि वह क्या करना
चाहते हैं और कैसे है सब देखने के बाद में
अंत में आया कि हमें क्या
करना उनका करना यह है अपने जो कांट्रैक्ट
की शर्त हैं कांट्रैक्ट निकालना है ठेका
निकालना है लेकिन उस टेंडर की शर्त में एक
जोड़ देना है लाइन कि इस पर इंडिया में
जिसने काम
किया यद यह लाइन जोड़ देंगे तो मेरे अलावा
और कोई एलिजिबल ही नहीं
हो और इसके 400 करोड़ रुपए
देंगे अब आप उन्होंने कारे लीगल कहीं इसका
कहीं उसका उन्होंने बताया उन्होने कहा आप
इसकी चिंता मत करिए उन्होंने कॉल मिलाई और
हिंदुस्तान के एक बहुत पावरफुल
को अब मैं नाम नहीं ले रहा हूं उनको कॉल
किया और कहा मिस्टर
लाल यह हमारे साथ है और इसमें ऐसे ऐसे य
कह रहे हैं कि इसमें लीगल का आएगा उनका
कोई प्रॉब्लम नहीं अभी मैं जेटली को बोलता
हूं जेटली आपसे बात करता
है और उसके बाद
में अगले दिन सुबह 11 बजे दिल्ली में
मीटिंग फिक्स हो गई तीनों मिनिस्ट्री की
एक
साथ आप इससे समझ सकते हैं भ्रष्टाचारियों
के नेटवर्क कितने बड़े होते थे और किस तरह
से होते थे और कैसे मैनेज होते थे बहरहाल
मैं नहीं जानता हूं उसमें क्या लिया गया
क्या नहीं लिया गया ठेका हुआ नहीं हुआ
लेकिन उतनी बात बता दी मैंने नाम दो कोर्ट
कर दिए जांच करवा लीजिए गलत निकल जाए तो
फांसी पर लटका दीजिएगा
तो उदाहरण बता रहा हूं यह भारतीय जनता
पार्टी की अटल बिहारी वाजपेई लाल कृष्ण
आडवाणी वाली सरकार
थी और उस सरकार की यह बात
थी तो साब तीन तीन नाम बता दिए लेने वाले
का देने वाले का और जो सेक्रेटरी था उसका
अब आप
समझिए तो यह उदाहरण है इस बात का कि इस
तरह से यह खेल होते ही होते हैं और इसके
बावजूद यदि सत्यपाल मलिक अच्छा इसमें एक
और सबद जोड़ दे उन्होंने य भी कहा था यह
पेमेंट कहां लेना है काइंड में लेना है
हिंदुस्तान में लेना है हिंदुस्तान के
बाहर लेना है जहां बताइएगा वहां मिल
जाए तो आप
बताइए अनिल अंबानी यह पेमेंट उन्हें हो
सकता है वो कहते कि हमें कनाडा में करा
दीजिए अमेरिका में करा दीजिए या इंग्लैंड
में करा दीजिए वहा हो
जाता उन्होंने तो नहीं किया ना उन्होंने
तो उसका विरोध किया और जिस तरीके से किया
उससे यह पता चलता है कि वह शख्स ईमानदार
है और लड़ने की बात करता है सच के साथ
खड़ा होता है और सदैव सच बोलता है वह
चौधरी चरण सिंह के मूल सिद्धांतों का
सपोर्ट करते हैं लेकिन जहां गलतियां
उन्होंने भी की उसे भी साफ इंगित करते हैं
जहां उनका पोता बिक गया उस पर भी वह खुल
के बोलते हैं तो आप इससे समझिए वह शख्स है
अपने आप को संत नहीं कहता है व बताता है
मैंने क्या गलती करी और क्या सही तो यही
चीज है यदि ऐसे व्यक्ति को आप छापा मार
रहे हैं उसके पास तो कुर्सी भी थी सब कुछ
था उसने छोड़ा ना उसने मांगा तो नहीं कोई
लालच तो नहीं था यहां तो छोटे-छोटे से
लालच के लिए लोग बिके हुए होते हैं डरे
हुए लोग होते हैं संजय जी आपके साथ बैठने
के पहले ही मुझे अभी लखनऊ से एक मिश्रा जी
का फोन आया
था और उन्होंने मुझे बताया कि वो और
उन्होंने बताया कि अरे भैया मैं तो
देवरिया से लेके आज कल कानपुर तक राहुल
गांधी की यात्रा में रहा
और आज मैं आपसे शेयर कर रहा हूं उस यात्रा
का
वर्णन और वह कांग्रेसी नहीं
है और उन्होंने जो बताया मैं मेरे को यह
लगा कि आखिर मैं इस बार लखनऊ क्यों नहीं
आया क्योंकि मैं सोचा था कि लखनऊ में एक
दिन मैं भी
देखूंगा तो मेरा ये मन हो रहा है कि मैं
कल जो है निकल लू और मुरादाबाद परसों
देखूं जाके तो यह स्थिति इसलिए क्योंकि
उन्होंने जो बताया लगा कि जैसे हम आजादी
की एक नई लड़ाई में चल रहे हैं और मैं
इतना प्रफुल्लित हो गया कि मैं खाना पीना
भी भूल गया और वह कोई यह नहीं है कि जवान
व्यक्ति है उनकी उम्र है 60 के
ऊपर अब आप इससे समझिए वो शख्स अब मैं उनके
बेटे का नाम इसलिए नहीं बता रहा हूं
क्योंकि उसकी बिचारे की नौकरी खतरे में आ
जाएगी तो मैं यह बता रहा हूं कि उनका बेटा
एक बड़ी अच्छी पोजीशन में नौकरी कर रहा है
तो ऐसी स्थिति में उन्होंने
अपने बेटा उनको बार-बार फोन करके पूछे
पापा दवा ली कि नहीं ली कहे मैं दवा आवा
की मुझे इतने दिन जरूरत नहीं पड़ी तो मतलब
आप यह सोचिए तो यही बात सतपाल मलिक साहब
ने कही थी जब राहुल गांधी से मिले थे एकएक
बात बताई थी उन्होंने इस भ्रष्टाचार की भी
बात बताई थी ये भी बताई थी और कहा था आप
बहुत सही कर रहे हो यह लड़ाई ऐसे ही लड़नी
है और वही बात उन्होंने कही वही बात मैं
जस्टिफाई कर रहा हूं कि राहुल गांधी किसी
से वोट नहीं मांग
रहे राहुल गांधी तो असल में जागरूक कर रहे
हैं सच के साथ अब आपकी मर्जी आपको क्या
करना है तो बड़ी बात है यही काम तो कर रहे
थे सतपाल मलिक उन्होंने गवर्नर की कुर्सी
छोड़ के इस देश के किसानों को जागरूक किया
इस देश के युवाओं को जागरूक किया वह आदमी
जो इतनी उम्र के बाद भी लड़ने को तैयार
है सच बोलने को तैयार है यहां तो नए-नए
लड़के डरे हुए घूम रहे हैं तब आप समझिए
ऐसी स्थिति में नरेंद्र मोदी को ऐसे ही
लोगों से डर लगता है और जब जब डर लगता है
तो कभी ईडी कभी सीबीआई कभी पुलिस आगे करती
है तो यह सत्य है जी बक बकुल ठीक है अखल
स्वामी जी ये सतपाल मलिक के छापे की खबर
से पूरे देश भर में तहलका मचा हुआ है देश
ही नहीं मैं कुछ विदेशी साइट देख रहा था
और लंदन में मेरे डॉक्टर मित्र है उनका
मैसेज भी आया कि यह तो बहुत खराब है कि एक
ईमानदार पूर्व गवर्नर को इस तरह परेशान
किया जा रहा है वो बेचारा एडमिट है उमर
बहुत है चल फिर बैठने तक में परेशानी होती
है और जिसको शिकायत की गई थी राम माधव और
अनिल अंबानी उनको तो शायद नहीं बुलाया गया
पूरी दुनिया में आज भारत की छवि कैसे बन
रही
होगी देखिए संजय जी भारत की छवि तो आप देख
रहे हैं पिछले 10 दिन से कैसे बन रही है
विश्व में आज तक के इतिहास में कभी आपने
देखा एक देश के अंदर मणिपुर के अंदर दो
समुदाय बिल्कुल दुश्मन की तरह सामने आमने
खड़े हो गृह युद्ध की स्थिति बना दे सरकार
बना दे और वही स्थिति पंजाब हरियाणा के
बीच में बना दे माने देश के कोई समाज किसी
समुदाय को छोड़ने के लिए ये लोग तैयार
नहीं है अभी अजय जी ने संदर्भ लिया एक
मिश्रा जी का मैं अपनी अपना आप आप बीती
खुद बताता हूं 72 साल की उम्र है मेरी दिन
में एक दो किलोमीटर से ज्यादा नहीं चलता
हूं राहुल गांधी जब गुड़गांव अंदर चल रहे
थे मैं 12 किलोमीटर चला हूं और उस ठंड में
चला हूं सुबह 5 बजे चला हूं अपने आप गया
था किसी के साथ नहीं गया था और मेरे अंदर
वह भावना प्रबल हो रही थी जैसे मैं सोचता
हूं मेरे पूर्वजों के दिल में होती होगी
जब व अंग्रेजों के खिलाफ लड़ रहे थे असल
में मुश्किल क्या है यह जो आतताई लोग हैं
यह जो दमनकारी लोग हैं यह अंग्रेजों के
साथ थे इन्होंने उस भावना को कभी महसूस
नहीं किया अब तेजस्वी यादव की मीटिंग को
देखिए बिहार के
अंदर पैर रखने की जगह नहीं है उत्साह में
जनता है वही राहुल गांधी की स्थिति हो रही
है देखिए अगर यह चंडीगढ़ वाला
एक्सपेरिमेंट ना दोहरा दे अगर ईवीएम पर आज
वकील लोगों का और बाकी लोगों का जो आंदोलन
है देखिए क्या स्थिति बनती है क्या होता
है ईमानदारी से इलेक्शन हो जाए संजय जी दो
सीटों पर बीजेपी पहुंच जाएगी आज के तारीख
में ऐसे लोग जिन्होंने दलाली की है या
जिन्होंने इतना ज्यादा अत्याचार किया है
कि वह डर रहे हैं जब सत्ता बदलेगी तो उनका
क्या होगा एक समूह है यह 5 सा परट लोगों
का समूह है जिन्होंने लोगों को आतंकित
किया है यह डर रहे जब सत्ता बदलेगी तो
इनका क्या होगा देखिए सतपाल मलिक जी को
मैं बहुत पहले से जानता हूं जब मैंने
नौकरी शुरू की थी उस समय से बहुत नजदीक से
जानता हूं और यह जानते हैं कि चौधरी चरण
सिंह ने एक प्रकार से अपना बेटा सतपाल
मलिक को मान लिया था और सतपाल मलिक को
चौतरा हट देना चाहते थे 1977 में ये लोग
वो लोग थे जो कि जनता पार्टी छोड़कर
कांग्रेस में आए थे पांच लोग एक अबरार
अहमद थे एक पंडित ब्रह्मदत्त थे एक सतपाल
मलिक थे और एक चंदन सिंह थे मथुरा के और
एक श्रीक वाजपेई थे कानपुर के ये लोग पांच
लोग छोड़ के आए थे जितने जुझारू व्यक्ति
सतपाल मलिक हैं तो मेरे ख्याल से मोदी जी
ने बहुत बड़ी गलती और यह गलती प गलती कर
चले जा रहे हैं बिहार के अंदर 40 में से
अगर एक दो सीट भी बीजेपी को मिल जाए तो
अपने को बहुत बड़ा ये उने आज की तारीख में
जितने भी मिस्टेक हो सकती हैं अब इतना बढ़
गए हैं यह पंजाब हरियाणा के मामले में
पीछे भी नहीं हट सकते अत्याचार करते
जाएंगे पूरा विश्व में जो आपने प्रश्न
पूछा संजय जी हमारे देश की छवि आज के
तारीख में विश्व के सबसे नराधम राष्ट्रों
में हो रही है और सबसे सुंदर देश विश्व का
सबसे सुंदर देश आज के तारीख में इन्होंने
अराजकता की स्थिति पैदा कर दी है क्योंकि
ये लोग डर रहे हैं जब सत्ता से उतरेंगे तो
इनका क्या होगा सतपाल मलिक आज के तारीख
में और सतपाल मलिक जैसे लोग जो संघर्ष कर
रहे हैं इतिहास में इनका नाम लिखा जाएगा
इन्होने इनके जो गुरु लोग हैं जो आज ये
अत्याचार कर रहे हैं वो तो ₹ की पेंशन में
चले गए और देखिए आपके पत्रकार भी बहुत
सारे सज्जा जी मैं आजकल देख रहा हूं उनका
भी सुर कैसा बदला है उससे पता चल रहा है
कि पेमेंट मोटा हो रहा है क्योंकि पेमेंट
की कहीं कोई कमी नहीं है लेकिन जो लोग
सच्चाई के साथ खड़े होंगे उनके जो वंशज
हैं उनके जो बच्चे हैं उनके जो पोते पोती
हैं नाम लेंगे ये आदमी रेड की हड्डी सीधी
थी खड़ा रहा और जो आज की तारीख में ढह
जाएंगे इनका नाम लेवा नहीं बचेगा तो सतपाल
मलिक ने अपना कद बढ़ा लिया है और इस कद
बढ़ाने पर मोदी जी ने उनकी मदद की है
सीबीआई ईडी के अधिकारियों को भी सोचना
चाहिए जब सत्ता बदलेगी और अगर ईमानदारी से
इलेक्शन हुआ उसके बाद इन लोगों का क्या
हश्र
होगा बिल्कुल ठीक कह रहे हैं कि इन लोगों
का क्या हश्र होगा सतपाल मलिका एक एक
ट्वीट आया है मैं पहले वह दिखा दूं आपको
सुना दूं आप लोगों को सतपाल मलिक ने कहा
है कि लिखा है पिछले तीन चार दिनों से मैं
बीमार हूं अस्पताल में भर्ती हूं इसके
बावजूद मेरे मकान में तानाशाह द्वारा
सरकारी एजेंसियों से छापे डलवाए जा रहे
हैं मेरे ड्राइवर मेरे सहायक के ऊपर भी
छापे मारकर उनको बेवजह परेशान किया जा रहा
है मैं किसान का बेटा हूं इन छापों से
घबराऊंगा नहीं मैं किसानों के साथ हूं
सतपाल मलिक पूर्व गवर्नर मैं किसान का
बेटा हूं किसानों के साथ हूं छापों से
घबराऊंगा
नहीं क्या इस ट्वीट का क्या मतलब निकाला
जाए अखिल स्वामी जी जो आज ट्वीट आया है
ये माइक अन म्यूट कर लीजिएगा माइक माइक
माइक माइक माइक देखिए संजय जी वास्तविकता
है देखिए मैं जो बारबार निवेदन कर रहा कि
सतपाल मलिक जी का जो असली चौधरा हट होती
है जो चौधरियों का चौधरी छोटूराम की चौधरा
हट थी चौधरी देवीलाल की चौधरा थी चौधरी
चरण सिंह की चौधरा थी उसका प्रतिनिधित्व
कर रहे हैं सतपाल मलिक आज के तारीख में
जितने भी वेस्टर्न यूपी राजस्थान हरियाणा
पंजाब जितने भी जाट हैं वह गौरवान्वित
महसूस कर रहे होंगे कि असली जाट कैसे होते
हैं तो यह जो सतपाल मलिक कह रहे हैं
वास्तविकता में यह जो हमारे देश के
क्रांति थे जिन्होंने देश को स्वतंत्र
कराया था आज वो वाली भावना प्रबल हो रही
है जो सीधे खड़े हैं और सतपाल मलिक
वास्तविकता में कह रहा हूं मैं कोई इसलिए
नहीं कि वो हो सतपाल मलिक का कद आज की
तारीख में इतना बढ़ गया और जैन चौधरी का
कद इतना घट गया है एक प्रकार से जैन चौधरी
ने रास्ता खोल दिया है समाजवादी पार्टी और
कांग्रेस के लिए और चंद्रशेखर के लिए
बल्कि जो उनके एरिया के लोग हैं जानते हैं
क्या कह रहे हैं संजय जी आपने सुना होगा
वो कह रहे थे चवन्नी गई और रुपया ले लि
लिया चवन्नी गई का मतलब जैंत चौधरी था
रुपैया ले लिया का मतलब चंद्रशेखर था अब
ये देखिए जो हो रहा है आज की राजनीति में
ईमानदारी से चुनाव अगर हुआ आपके दर्शक
बार-बार ये कहते हैं ईवीएम का मसला और जो
चंडीगढ़ में उन्होंने करके दिखाया यह मान
के चलिए कि हम लोग लोकतंत्र में रहते थे
अब हम लोग लोकतंत्र में रहने के कगार पे
हैं और अब हम तानाशाही में प्रवेश कर चुके
हैं इसके बावजूद जो देशभक्त लोग हैं जिनको
इस देश से जो मिला है उसको वापस करने की
क्षमता रखते हैं वो लोग तन के खड़े रहेंगे
और जो होगा देखा जाएगा चौ अगर चंद्रशेकर
आजाद और राम प्रसाद बिस्मिल्ला फश गुल्ला
खान ने अगर इस प्रकार से देश के लिए शहादत
दी है कुछ शहादत हो जाएं और वेस्टर्न यूपी
के जो चौधरी बैठे थे जिन्होंने पिछली बार
किसान आंदोलन को एक प्रकार से समर्पण कर
दिया था आज चुप बैठे हैं एक-एक का हिसाब
होगा इतिहास सबका हिसाब लेगा जैसे 1977
में में भी हिसाब लिया गया था इस बार भी
लेगा क्योंकि सतपाल मलिक का यह ट्वीट यह
दिखाता है बीमार होने के बावजूद वोह आदमी
असली जाट है असली चौधरी है और उसी क्षेत्र
से क्योंकि मैं भी आता हूं मुझे गर्व है
कि मैं उस एरिया से आता हूं जहां से सतपाल
मलिक आते हैं हां उस एरिया से भी आता हूं
जहां से जैन चौधरी आते
हैं ब ठीक कह रहे हैं मैं दर्शकों को एक
बार फिर ये ट्वीट पढ़कर सुना दूं फिर अजय
शुक्ला जी से इसका मतलब पूछूंगा कि इसके
लिए गंभीर अर्थ क्या होते हैं इस ट्वीट के
भाव क्या होते हैं सतपाल मलिक ने लिखा है
पिछले तीन चार दिनों से बीमार हूं अस्पताल
में भरती हूं इसके बावजूद मेरे मकान में
तानाशाह दरा सरकारी एजेंसियों से छापे
डलवाए जा रहे हैं मेरे ड्राइवर मेरे सहायक
के ऊपर भी छापे मारकर उनको परेशान किया जा
रहा है मैं किसान का बेटा हूं छापों से
घबराऊंगा नहीं मैं किसानों के साथ हूं
सतपाल
मलिक अजय जी यह जो लाइन कही है उन्होंने
कि तानाशाह से डरूंगी घबराऊंगा नहीं इस
लाइन के बड़े गंभीर मतलब होते हैं आप जरा
समझाइए तानाशाह से डरंगा नहीं इस लाइन के
आज के संदर्भ में क्या मतलब
है माइक माइक माइक संजय जी
तानाशाह जिस तरीके से कर रहा है य ये किसी
से आज किसी से अ आप नाम ले लीजिए सिर्फ
तानाशाह कहिए व खुद बता देगा आज की डेट
में कौन है उसका नाम बता देता तो तानाशाह
के लिए नाम भी बताने की जरूरत नहीं है अब
आप इससे समझ लीजिए कि वो तानाशा किसे
कहते मोहम्मद बिन तुगलक कभी कहता है कि
राजधानी तुगलकाबाद होगी कभी कहता है कि
दिल्ली होगी कभी कहीं होगा और इसी में
जाते आते लोग मर जाते हैं कभी कहता है कि
चमड़े का सिक्का चलेगा कभी कहता है इसका
सिक्का चलेगा कभी को ई चीज और करेंसी
बर्बाद हो जाती है 85 का डॉलर पहुंच
गया तो उदाहरण मौजूद
है जिस तरह के हालात बनाए गए वह अपने
सामने मौजूद है कभी वह किसानों को
अन्नदाता बोलता था और जाने क्याक बोलता था
आज उसी अन्नदाता को कभी खालिस्तानी कभी
आंदोलन जीवी कभी कुछ और बताता
है और उनको मरवा देता है तो सामने
साहब जिन जवानों की कसम खाता था उन जवानों
को अग्निवीर बना कर के मरवा देता है जिन
युवाओं की युवा शक्ति की बात करता था उस
युवा शक्ति को सड़क पर चलने के लिए
प्रदर्शन करने के लिए मरने के लिए मजबूर
कर देता है वह अपने रोजगार की बात कर रहे
हैं वह अपनी नौकरियों की बात कर रहे हैं
और उनकी बात कर रहे हैं जिनके वह योग्य है
हुजूर तो इस दशा में लाकर खड़ा कर देता
वह व्यक्ति जो इस देश के लोगों को समृद्ध
और आत्मनिर्भर बनाने की बात करते ता था
उन्हें इतना परजीवी बना देता है कि वह पा
किलो अनाज पर जीने के लिए विवस हो जाते
हैं और इस देश की
81.5 करोड़
जनता पा किलो अनाज पर आ जाती
है वो इस देश
के जो छोटे छोटे उद्योग है उनकी बात करता
है कि उन्हें कहां बढ़ाना है और स्थिति यह
होती है इस देश का एमएसएमई सेक्टर छोटे
लघु और उद्यम
उद्योग बर्बाद में इस हालत में आ जाते हैं
कि इस देश के 35 फीसद एमएसएमई सेक्टर खत्म
हो जाते खत्म हो
जाते यह सोचिए वह बात करता है जब स्किल
इंडिया
की तो हुजूर 85 पर स्किल
इंडिया प किया गया जितना खर्च है सब
बर्बाद हो जाता है सब अपने जीवन को बर्बाद
कर लेते हैं जो इस प्रोजेक्ट में लगते
हैं और आप याद करिए जिस तरीके से उन्होंने
तमाम तरह के ख्वाब दिखाए तो अब देख लिया
कि ख्वाब तो ख्वाब ही है तो अब ख्वाब
दिखाया जा रहा है कि आने वाले जो है 207
में विकसित
भारत और जब विकसित भारत की बात करता है
207 की करता है आज की नहीं करता है
महिलाओं को हक देने की बात करता है तो
कहता है
कब जब ये सारी जनगणना हो जाएगी फिर
महिलाओं का वो निकलेगा फिर परसीमन होगा और
फिर कहीं कुछ मिलेगा यानी सपना देखते रहिए
सजो रहिए कि महिलाओं को यह मिल
गया सपने में ख्वाबों में जीज और भीख मांग
के खाइए लाइन लगा लीजिए हमारे आगे याचक की
तरह से कि हुजूर कुछ दे दो हम रोटी खा ले
बस आपकी जय
हो तो वह है और जब उसके इस ख्वाब का कोई
खुलासा करता है तो वह सीबीआई के ईडी के
इनकम टैक्स के और पुलिस के छापे डलवा है
लोगों के ऊपर अत्याचार करता
है तो साहब कोई कानून नहीं कुछ नहीं एक
घटना अभी दिल्ली से सटे हुए गाजियाबाद की
है डॉली शर्मा के घर पर जिस तरीके से
अचानक एकदम से पुलिस पहुंची उनके घर का
सामान उठाकर पता नहीं कब बाहर कर दिया वह
और वह अपने बेटे को लेकर कह रही बताइए यह
महिला की वह बात
है हम इतने सालों से य रह रहे हैं इसके
सारे कागज मौजूद है हमसे कोई बात ही नहीं
हो
रही तो यह सारी चीजें उरण है इस बात का कि
यह
सरकार
निकम्मी यह प्रधानमंत्री मक्कार
है और जब
प्रधान प्रधानमंत्री के पद पर बैठा
व्यक्ति मक्कार हो जो खुद की तुलना तो
नेहरू से करे लेकिन उनके पांव का धोवन भी
ना हो तो उसको एक भी शब्द चुभता है किसी
का और चुभता है तो छापा माने अरे भैया आओ
मेरे घर में खूब मारो आके जो निकाल ले जा
पाओ निकाल लो खुला रहेगा तुम्हें दरवाजा
मिलेगा तो वही स्थिति सतपाल मलिक की है आप
तो घर गए आपने देखा उनके यहां अरे जो
देखना है देख लो खुद ही रख जाओ कुछ रख जाओ
आके ज्यादा अच्छा है मिलेगा कुछ
नहीं लिख रहे हैं वो एक बार फिर से वो
छोटा सा दो मिनट का इंटरव्यू देखना चाहते
हैं सतपाल मलिक का मैं एक बार फिर दिवा दे
रहा हूं उनको फिर
आना ज्यादा बड़ा था या फिर वास्तव में
कश्मीर को आतंकवाद से मुक्त कराना ज्यादा
बड़ा मुद्दा था आतंकवाद से मुक्त कराने के
लिए 370 नहीं हटाई थी 370 तो चकि इनका
प्लैंक था ये हर चुनाव में बोलते थे इनके
घोषणा पत्र में था वो तो अपने वोटर को
अपीज करने का
था एक बड़ा मुद्दा बार-बार आपसे पूछा जाता
है हर इंटरव्यू में पूछा जाता है राम माधव
और अंबानी की फाइल्स का सीबीआई ने भी आपको
बुलाया और कई घंटे आपसे पूछताछ की
क्याक पूछा आपने कुछ बता सकते हैं देखिए
जिनसे पूछताछ करनी चाहिए उनसे तो करी नहीं
मैं तो शिकायत करता था मेरे से क्या
पूछताछ करनी उनसे करो जिनका मैंने नाम
लिया उनसे नहीं किया अभी तक मेरे से पूछा
कैसे क्या बताया मैंने वो डायवर्ज करना
मेरे लिए ठीक नहीं
है आपका इशारा था कि राम माधव और अनिल
अंबानी से पूछताछ नहीं की गई करनी
चाहिए क्या गवर्नर लोगों को वास्तव में
इतने रुपए मिलते हैं जितने आपने बताया 00
करोड़ फाइल
कश्मीर में एक ट्रांसफर के 50 लाख मिलते
हैं इतना पैसा है कश्मीर में कश्मीर में
इतना पैसा है और इतना ही करप्शन
है इस 370 के हटने के बाद कोई जानकारी है
करप्शन बढ़ा है कम हुआ है मैं नहीं कह
सकता चकि मैं तो एक महीने बाद चला आया था
तो कश्मीर में इतना इतना पैसा क्यों मिलता
है किस बात के लिए मिलता
है कमाते हैं लोग कश्मीर के जितने भी
फॉरेस्ट का जो चीफ है वो रिटायर हुआ
महारानी में बंग नहीं मिलेंगे उनके
सब जो भी वहा डिपार्टमेंट के हेड है सबके
बंगले दिल्ली में मिलेंगे
आपको यह बात तो आपकी जानकारी में तब भी आ
गई होगी जब आप गवर्नर थे लेकिन मैंने जब
यह दोनों कैंसल किए मामले उसके बाद से
पैनिक हो गया था डर हो गया था फिर कम हो
गया था
करप्शन बीजेपी मानती आप बड़े खुराफाती
टाइप के गवर्नर है आप गोवा में थे तो गोवा
में आपने चीफ मिनिस्टर की ढेर सारी शिकायत
कर दी सच्ची की थी लेकिन वो पनिश मुझको
किया उसको तो किया नहीं जो बिल्कुल सही
शिकायतें थी वो थी वहां क्या था
मामला ठीक
नहीं प्राइम मिनिस्टर कहते हैं कि उनको
भ्रष्टाचार बहुत बुरा लगता है नफरत है
प्रधानमंत्री जी को भ उनको उतना बुरा नहीं
लगता उनको अपने आदमी का भ्रष्टाचार ठीक
लगता है दूसरों का खराब लगता है अपने आदमी
को छूट दी जाती
है यह था वो बयान और सुना है की कारवाई
अभी भी जारी है छापामारी जारी है
बहुत-बहुत शुक्रिया अखिल स्वामी जी अजय
शुक्ला जी आपने इस विषय पर हमसे बातचीत
करी हम लोग इस खबर का जो अपडेट होगा वो
देते रहेंगे धन्यवाद
आपका तो हम लोग बात कर रहे थे अभी कि किस
तरह जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सतपाल
मलिक के घर पर छापे मार रही है सीबीआई
क्योंकि उन्होंने एक बड़े रैकेट का खुलासा
कर दिया था जिसके तार संघ के प्रचारक से
भी जाकर जुड़ते थे आपसे रिक्वेस्ट है कि
अगर आपको बातचीत पसंद आई हो तो चैनल को
जवाइन जरूर कीजिएगा सब्सक्राइब करिएगा
हमारे राज्यों के चैनल है 4 पीएम यूपी
बिहार गुजरात महाराष्ट्र राजस्थान कर्नाटक
मध्य प्रदेश महाराष्ट्र और फ पीएम बॉलीवुड
उन्हें भी सब्सक्राइब करिएगा अपनी राय से
अवगत कराएगा शुक्रिया थैंक
यू

Leave a Comment