India-UAE Deal: UAE ने भारत को दिया तोहफा चीन के उड़े होश

फवरी को पीएम मोदी ने अबू धाबी के पहले
हिंदू मंदिर का उद्घाटन किया इसके बाद
पीएम मोदी ने यूएई के साथ एक बड़ा समझौता
किया मंदिर उद्घाटन के बाद यूएई की तरफ से
भारत को मिला यह दूसरा बड़ा तोहफा है यूएई
के इस तोहफे ने चीन की टेंशन बढ़ा दी है

कैसे चलिए आपको इस वीडियो में बताते हैं
नमस्कार मैं हूं अदिति श और आप देख रहे
हैं न्यूज नेशन डिजिटल दरअसल भारत और
संयुक्त अरब अमीरात यानी यूएई ने भारत
पश्चिम एशिया यूरब आर्थिक गलियारा यानी
आईएमईसी पर एक समझौते पर हस्ताक्षर किए
हैं इस समझौते को दोनों देशों के बीच
व्यापार और रणनीतिक संबंधों को मजबूत करने

की दिशा में एक महत्त्वपूर्ण कदम बताया जा
रहा है आईएमईसी एक महत्वाकांक्षी परियोजना
है जो भारत को पश्चिम एशिया और यूरोप के
साथ जोड़ेगा यह गलियारा समुद्री रेल सड़क
और हवाई मार्गों का एक नेटवर्क होगा जो

भारत को यूएई सऊदी अरब इजराइल के साथ साथ
यूरोपी देशों से भी जोड़ेगा इस समझौते के
तहत भारत और यूएई आईएमईसी के विकास के लिए
मिलकर काम करेंगे दोनों देश इस गलियारे के
साथ बुनियादी ढांचे के विकास में निवेश
करेंगे इसके अलावा आईएमईसी समझौते से भारत
को और भी कई फायदे होंगे जैसे यह भारत के
व्यापार को बढ़ावा देगा यह भारत को ऊर्जा
सुरक्षा प्रदान करेगा यह भारत के रणनीतिक

संबंधों को मजबूत करेगा प्रधानमंत्री
नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आईएमईसी भारत
और यूएई के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत
करेगा यह गलियारा दोनों देशों के बीच
व्यापार और निवेश को बढ़ावा देगा इस
कॉरिडोर को चीन के बेल्ट एंड रोड

इनिशिएटिव बी
आरआईए जाहिर सी बात है कि चीन को यह बात
अच्छी नहीं लगेगी चीन इस कॉरिडोर में किसी
भी तरह के डेवलपमेंट को देखकर चिंतित होगा
भारत शुरू से ही चीन के बीआरआईएनएक्स
तहत चल रहा चीन पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर
पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरता

है भारत इसे अपनी संप्रभुता का उल्लंघन
समझता है यूएई के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद
बिन जायद अल नहाया ने भी कहा है कि
आईएमईसी एक महत्त्वपूर्ण परियोजना है जो
भारत और यूएई के बीच संबंधों को मजबूत
करेगा यह गलियारा दोनों देशों के लिए

आर्थिक और रणनीतिक लाभ लाएगा आईएमईसी
समझौते पर हस्ताक्षर भार भत और यूएई के
बीच संबंधों में एक महत्त्वपूर्ण मोड़
माना जा रहा है आपको बता दें कि पीएम मोदी
के यूएई दौरे के पहले दिन यानी मंगलवार को
भारत और यूएई ने 10 समझौता ज्ञापन पर

हस्ताक्षर किया भारत के विदेश मंत्रालय ने
एक बयान में कहा है कि पीएम मोदी की यूएई
यात्रा के दौरान द्विपक्षीय निवेश संधि पर
भी समझौते हुए और दोनों देशों ने बिजली
कनेक्शन और डिजिटल बुनियादी ढाचे पर मिलकर
काम करने का का वादा किया है पीएम मोदी ने
अपने यूएई दौरे में वहां रह रहे हजारों

भारतीय प्रवासियों को संबोधित भी किया साल
2015 से पीएम मोदी का यह सातवां यूएई दौरा
था दोनों देशों के रिश्तों को इसी से समझा
जा सकता है कि प्रधानमंत्री मोदी यूएई के
राष्ट्रपति को अपना भाई बताते हैं इससे यह
साफ होता है कि दोनों देशों के रिश्ते नए

मुकाम पर पहुंच गए हैं और आने वाले दिनों
में भारत और यूएई के रिश्ते और ज्यादा
गहरे होंगे बहरहाल यह वीडियो आपको कैसा
लगा इस वीडियो पर आपकी क्या राय है कमेंट
बॉक्स में जरूर बताइएगा देखते रहिए न्यूज़
नेशन डिजिटल मेरे यानी अदिति शाह के साथ
शुक्रिया

Leave a Comment