Lok Sabha Election 2024: सपा और Congress गठबंधन में एक और दल की एंट्री, Jairam Ramesh ने किया एलान

हां जरूर शामिल होगी और आज 42वां दिन है
मुरादाबाद में है मुरादाबाद से हम शुरू कर
रहे हैं यहां से हम अमरोहा जाएंगे अमरोहा
से संबल और रात को हम बुलंद शहर में
रोकेंगे कल 25 तारीख को संबल से शुरुआत
होगी

संबल अलीगढ़ हथरस और बाद में हम आगरा
पहुंचेंगे जहां हम उम्मीद करते हैं अखिलेश
जी भी मौजूद होंगे आगरा से हम धौलपुर
जाएंगे और कल शाम को करीब 5 बजे हम धौलपुर
पहुंचेंगे 26 तारीख से 1 मार्च तक छुट्टी
का दिन है क्योंकि दिल्ली में बैठक हैं

राहुल जी को 27 और 28 को केंब्रिज
यूनिवर्सिटी को जाना है और दो तारीख को हम
फिर से धौलपुर से मोरेना में जाएंगे और
मोरेना दोती च पाछ हम मध्य प्रदेश में
रहेंगे और 5 तारीख को उज्जैन में दूसरी
बार राहुल जी बहुत पवित्र श्री महा
कालेश्वर मंदिर में उज्जैन में दर्शन के

लिए जाएंगे सर उत्तर प्रदेश में आपने जबसे
अलायंस की घोषणा करी है उसके बाद ये आपका
पड़ाव अब शुरू हो रहा है तो क्या इसके
अंदर हम देखेंगे कि अखिलेश यादव भी जवाइन
करेंगे क्योंकि उन्होंने कहा था कि जैसे

ही हो जाएगा मैं मैं उम्मीद करता हम लोग
सब उम्मीद कर रहे हैं कि कल वो जो मौजूद
होंगे हमारे यात्रा में कल हम अलीगढ़ में
है अलीगढ़ और हाथरस और आगरा तो हो सकता है
आगरा में वो शामिल हो पर पूरी हमारी पूरी

उम्मीद है और हम उनका स्वागत के लिए हम
तैयार है सर क्या कोई जॉइंट पीसी आप लोगों
की या वो कल ही देखा देखा जाए क्योंकि ये
बड़ा व्यस्त कार्यक्रम है देखिए दो दिन
में हम करीब सात या आठ जिले कवर कर रहे

हैं तो पीसी के लिए क्या वक्त होगा व देखा
जाएगा पर महत्त्वपूर्ण बात यह है कि
औपचारिक तौर से गठबंधन की घोषणा की गई है
17 सीटें कांग्रेस को मिला है एक सीट

चंद्रशेखर आजाद जी जी के पार्टी को मिला
है और बाकी सीटें सापा लड़ेगी
और समय लगा अंतिम रूम देने के लिए अंतिम
रूम दे हमें कुछ लेना पड़ा हमें कुछ देना
पड़ा तो कुछ कॉम्प्रोमाइज का यही है ना
समझौता का पर की परिभाषा यही है कि कुछ
देते हैं और हम कुछ लेते हैं तो ठीक है और

आज आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन
की भी घोषणा की जा रही है औपचारिक ौर से
तो बार-बार यह कहा जाता था कि कांग्रेस
पार्टी सुस्त है सोई हुई है इंटरेस्टेड
नहीं है दिलचस्पी नहीं दिखा रही है गठबंधन

मैं हमेशा कहा करता था यह समय लगता है
अंतिम रूप देने में और देखिए ये पार्टियां
के साथ हम विधानसभा में लड़ रहे हैं हमारा
मुकाबला इन पार्टियों के साथ है पर
राष्ट्रीय स्तर पर हमने इंडिया गठबंधन
बनाया है तो कुछ समय लगा पर हो गया है सर
इसमें एक बस आपसे मेरा सवाल है क्योंकि
टीएमसी का क्या रहने वाला है बातचीत जारी
है बातचीत जारी है टीएमसी के साथ हमारे
हमारे दरवाजे हमेशा के लिए खुले थे हम

बातचीत कर रहे हैं हम आज भी चाहते हैं
क्योंकि टीएमसी ने भी कहा है ममता बनर्जी
ने भी कहा है कि मैं इंडिया गठबंधन को
मजबूत करना चाहती हूं मुझे बीजेपी हराने

का पहला सबसे महत्त्वपूर्ण मकसद सर्वोपरि
मकसद एक ही मकसद बीजेपी को हराना है वो भी
कांग्रेस का ही रया है कांग्रेस की रणनीति
है कांग्रेस का मकसद वही है तो उम्मीद
करते हैं कि तृणमूल कांग्रेस तूतू में में
तो होती रहती है हमारे दोनों पार्ट के बीच
में
पर ममता जी का बड़ा सम्मान करते हैं व
कांग्रेस पार्टी की कांग्रेस पार्टी ने

उनको सांसद पहला पहली बार सांसद बनाया था
कांग्रेस पार्टी में आगे गई
है कुछ कारण हमारी पार्टी छोड़ गई पर उनका
पार्टी का नाम देखिए तृणमूल

कांग्रेस तृणमूल भी है और कांग्रेस भी है
तो दिल से कांग्रेस आई है सर क्या माना
जाए आपने एक बड़े फार्मूले जो थे जो
अलायंस का था उसको पूरी तरीके से आप आप
पटरी पर ले आए हैं अब आगे और क्या रहने
वाला है आप लोगों को किस तरीके से आप
देखते हैं जो यात्रा को भी आपकी धार
मिलेगी और आगे आगे जैसे जैसे आप बढ़ेंगे

आपके चुनाव प्रचार को अपनी जो जो एक कह
रहे हैं हम बैटल ऑफ लोकसभा देख हमारी
उम्मीदों के मुताबिक पल्टी कुमार को
छोड़कर और आखिरी वक्त पर आरएलडी भी एनडीए

में शामिल हो गए वो कई कारण थे उनके पर इन
दो पार्टियों को छोड़कर सभी 26 पार्टियां
इंडिया गठबंधन में है तो इंडिया गठबंधन
मजबूत है अ एक रैली एक या दो रैलियां हो
सकती है हो सकते हैं कि हमारा जो अंतिम
रैली होगा मुंबई में 14 या 15 तारीख मार्च
को हो सकता है वो एक संयुक्त रैली होगा

तारीख को हमारा ग्वालियर में भी एक रैली
है युवा रैली की बात हो रही है गवालियर
में तो ये सब संभावनाएं हैं अ पर
मजबूत है और हमारे ओर से कांग्रेस पार्टी
की ओर से जो पांच न्याय एजेंडा राहुल जी

ने दिया था नारी न्याय युवा न्याय श्रमिक
न्याय किसान न्याय और हिस्सेदारी न्याय उन
पांच न्याय में से दो ऐसे गारंटी राहुल जी
ने दे दिया हालाकि मोदी गारंटी मोदी

गारंटी कह रहे हैं पर हमारी ओर से जो
गारंटी गई कि हम एमएसपी को कानूनी दर्जा
देंगे और स्वामीनाथन फार्मूला जो खेती की

लागत
है कंप्रिहेंसिव तो विस्तृत रूप से जो
खेती की लागत होती है उसको डेढ़ गुना करके
एमएसपी उसी उसके आधार पर ही तय किया जाएगा
और उसको कानूनी दर्जा दिया जाएगा इसका
गारंटी हमने दिया है किसान संगठनों की
मांग है और दूसरी गारंटी हमने दी है कि हम

सामाजिक और आर्थिक जाति जनगणना करेंगे
सामाजिक आर्थिक जाति गिनती करेंगे ताकि
हिस्सेदारी सभी वर्गों को सही मात्रा में
मिले तो यह दो गारंटी हैं और अगले कुछ 10
दिनों में युवाओं के लिए महिलाओं के लिए
और श्रमिकों के लिए जो हम गारंटी दे रहे
हैं उसकी घोषणा भी हो

जाएगी

Leave a Comment