Maa Durga तुम्हारे चरण को चूमेंग अब आज तुम्हारे होश उड़ जाएंगे

मेरे बच्चे जिसने भी तुम्हारे साथ अन्याय
किया है तुम्हें मानसिक या शारीरिक
प्रताड़ना दी है अब उसे मिलेगा भयंकर दंड
तुम दूसरों के साथ कितना ही अच्छा व्यवहार
क्यों ना कर लो परंतु जिसके मन में मैल\

होता है वह कभी भी तुम्हारी अच्छी नियत को
नहीं देख पाता वह सब यह सोचते हैं कि इस
कार्य में भी तुम्हारा कोई हित छिपा होगा
वह तुम्हारे किए गए अच्छे कार्य के प्रति
तुम्हारी अच्छी भावना को पहचान ही नहीं
पाते तुम्हारे शत्रु की अन्याय करने की

सीमा बहुत ज्यादा ही बढ़ चुकी है और तुम
भी अब उसके अन्याय को बर्दाश्त करते-करते
थक चुके हो मगर यह पीड़ा तुम्हें और
बर्दाश्त करने की जरूरत नहीं है अब इसका
प्रतिकार किया जाएगा मेरे बच्चे मैं सब
देख रही हूं और मैं हर व्यक्ति को उसके
कर्मों के अनुसार ही फल देती हूं मेरे
न्याय प्रक्रिया में भले ही देर क्यों ना

हो परंतु मैं किसी को छोड़ती नहीं हूं मैं
उन सभी पापियों को दंड अवश्य दूंगी इंसान
चाहे किसी के साथ कितना भी अन्याय कर ले
लेकिन वह अपने कर्मफल से बच नहीं सकता
तुम्हें वस धैर्य रखने की बहुत आवश्यकता
है मेरे बच्चे

तुम बस अपने स्तर पर उग्र मत हो जाना और
खुद से कोई गलत कदम मत उठा लेना यह ध्यान
रखो कि अन्याय के खिलाफ बोलने में कोई
नहीं परंतु खुद से कोई गलत कदम उठाना ठीक
नहीं मेरे बच्चे अगर तुम अन्याय के खिलाफ
नहीं बोलते हो तो लोग तुम्हें कमजोर समझने
लगते हैं और फिर तुम्हारे साथ और अन्याय
करते हैं किंतु तुम्हें चिंता करने की

आवश्यकता नहीं है मेरे बच्चे तुम मेरे
भक्त हो और सभी दुष्टों से तुम्हारी रक्षा
मैं स्वयं करूंगी मेरे बच्चे मगर तुम
मुझसे एक वादा करो कि लोगों के अन्याय से
तुम डरो ग नहीं बल्कि अन्याय के खिलाफ
आवाज उठाओगे और किसी कमजोर व्यक्ति पर भी
कोई अन्याय कर रहा है तो उसकी सहायता
करोगे और उसे निडर बनाओगे तुम्हारा ऐसे
में कल्याण अवश्य होगा मेरे बच्चे मैं

सदैव तुम्हारे साथ हूं मेरे बच्चे आज रात
से ही उसके जाने की शुरुआत होती है जिस
काली भयानक रात ने आपको परेशान कर रखा था
आपकी बरसों की तपस्या को जो कठिनाई भंग कर
रखी थी उस काली अंधेरी रात को तुम अलविदा
कहने जा रहे हो अब आप अपने जीवन में एक
बड़े बदलाव की की ओर आगे बढ़ रहे हो वह

बड़ा बदलाव आपके जीवन में प्रवेश करने जा
रहा है यदि आप अभी तक इस संदेश को देख रहे
हैं तो आपको अगले तीन दिनों में धन की
प्राप्ति होगी इस संदेश को आप पढ़ रहे हैं
यह कोई सहयोग नहीं है मैंने स्वयं तुम्हें
चुना है ताकि तुम्हें बता सकूं कि तुम

अपने जीवन के एक नए चरण पर पहुंचने वाले
हो मैंने तुम्हारे लिए कुछ विशेष योजना
बनाई है इस योजना से तुम्हारे सपने पूरे
हो जाएंगे मेरे बच्चे यह सदैव स्मृ रखो कि
रात्रि अधीर काली हो जाती है तो इसका यह
मतलब होता है कि सवेरा निकट है उसी तरह
अगर तुम्हें ऐसा लगता है कि तुम्हारे जीवन
में तुमने सदैव बुरे समय को ही देखा है तो
तुम्हें इस बात का भी पता होना चाहिए कि अ
अच्छा समय नजदीक है और यह अच्छा समय तुम
सिर्फ और सिर्फ अपने कर्मों से ही कमा
सकते हो जिस तरह खाली बर्तन देखने से भोजन
प्राप्त नहीं होता उसी तरह से खाली बैठे

रहने से तुम पुण्य नहीं कमा सकते पुण्य
कमाने के लिए तुम्हें अच्छे कर्मों का चयन
करना होता है किसी मंजिल तक पहुंचने के
लिए तुम्हें उस मंजिल पर चलना पड़ता है भी
तुम उस यात्रा को तय कर पाते हो जीत उसी
की होती है जिसके हौसले में उड़ान होती है

वह वाक्य सिर्फ कहने के लिए नहीं है इसमें
सच्चाई भरी हुई है तुम आज अपने जीवन में
क्या हो और आगे कहां जाना चाहते हो इसके
लिए तुम्हें सोचना होता है और जरूरी कदम
उठाने होते हैं यही यात्रा तुम्हारे जीवन

के अंत को तय करती है जो लोग आलसी होते
हैं वह ज्यादा हुनरी भी होते हैं लेकिन
अगर अपने हुनर को इस्तेमाल नहीं करते तो
अपने जीवन में कभी आगे नहीं बढ़ पाते हैं
और सदैव सपनों की दुनिया में ही राज करते
हैं जो कदापि वास्तविक नहीं है उन्हें यह

समझना होगा कि वास्तविक शिखर पर तभी पहुंच
सकते हैं जब आप उसे पाने के लिए वास्तविक
मेहनत करते हैं इस लिए कहते हैं कि मेहनत
का फल सदैव मीठा होता है क्योंकि आपकी
मेहनत ही है जो सदैव आपको जीत दिला सकती
है और मैं तुम्हारी इसी मानसिकता को जगाने

आई हूं मेरे बच्चे यदि आपसे यह संदेश जुड़
पाया है तो जय मां काली अवश्य लिखें मेरे
बच्चे तुम्हें सतर्क होने की आवश्यकता है
कोई है जो तुम्हारे परिवार के किसी सदस्य
को कुछ करने के लिए मजबूर कर रहा है वह
बार-बार उसे परेशान कर रहा है ताकि वह
उससे वह काम करवा सके जो वह लंबे समय से
करवाना चाहता है मगर आपके परिवार के सदस्य
वह काम नहीं करना चाहते वह बाहरी व्यक्ति

उस पर बार-बार दबाब डालने की कोशिश कर रहा
है आपके परिवार के सदस्य को अभी सबसे
ज्यादा आपकी जरूरत है वह बार-बार आपकी ओर
उम्मीद की नजरों से देख रहे हैं कि आप
आओगे और उसकी मदद करोगे ताकि वह उस बुरे
व्यक्ति से पीछा छुड़ा सके ऐसा अवश्य हो

सकता है कि अभी आप अच्छे समय से ना गुजर
रहे हो इसलिए वह बुरा व्यक्ति आपको और
नुकसान पहुंचाने के लिए आपके परिवार के
सदस्य का इस्तेमाल कर रहा है और इसलिए
आपको अपने परिवार के हर सदस्य पर कड़ी नजर
रखनी होगी और यह पहचानना होगा कि वह कौन
है जो बार-बार आपसे मदद की उम्मीद कर रहा
है वह आपको खुलकर नहीं बता पा रहे हैं कि

उन्हें आपकी मदद की आवश्यकता है इसलिए वह
आपको अलग-अलग तरह के संकेत भेज रहे हैं
जिससे आपको अपने दुश्मन को समझने में
आसानी हो आपके परिवार का सदस्य इस वक्त
बहुत डरा हुआ है वह हर रोज रात में सोने
से पहले इसी आत्म गलानी में रहता है कि वह
आपके साथ अच्छा नहीं कर रहा है वह बार-बार
मुझे अपने बुरे कर्मों का दंड मांग रहा है

और यह मना रहा है कि सब कुछ जल्दी से ठीक
हो जाए मेरे बच्चे अब तुम ही कुछ कर सकते
हो अब तुम ही उसकी परेशानी का हल बनकर
उसके सामने आ सकते हो सिर्फ तुम ही हो
मेरे बच्चे

जो उसे उसकी पीड़ा से मुक्ति दिला सकते हो
मेरे बच्चे अपने घर में सदैव एक खुशनुमा
माहौल बनाक रखो इससे तुम सभी को एक सरल
जीवन जीने में मदद मिलेगी किसी पर भी
गुस्सा करने से पहले उसकी मन की मंसा को
जान लेना अति आवश्यक है किसी को भी बिना

किसी वजह के मानसिक चोट देना ठीक नहीं यह
बर्ताव भविष्य में उसके विकास पर एक गहरी
छा छोड़ देगा मेरे बच्चे इसलिए सावधान रहे
और सतर्क रहे और जहां कुछ समझ ना आए मेरा
स्मरण करना मैं तुम्हें मदद भेज दूंगी
मेरे बच्चे मेरे अगले संदेश की प्रतीक्षा
करना मेरे बच्चे मैं फिर आऊंगी तुमसे
मिलने ओम नमः

शिवाय मेरे बच्चे तुमने अपने जीवन में
अच्छे बुरे बहुत सी परेशानियों को देखा है
परंतु कुछ परिस्थितियों में तुम बिना कोई
दोष किए ही आरोपित हो जाते हो तो कुछ
परिस्थितियों में यदि तुम किसी का भला
करने जाते हो तो उल्टा तुम्हारे साथ ही
बुरा व्यवहार करते

हैं और तुम्हारी हंसी उड़ाते हैं जिसके
कारण तुम्हारे मानसिक स्थिति में परिवर्तन
आ जाता है और तुम क्रोधित होकर दूसरों की
भलाई करने की इच्छा त्यागने का विचार करने
लगते हो किंतु मेरे बच्चे यदि जगत में हर
व्यक्ति एक तरह की सोच रखने

लगेगा यदि हर कोई बुराई से डरकर अपने अंदर
की अच्छाई को मार देगा तो वास्तव में
हमारे जीने का उद्देश्य ही क्या रह जाएगा
मेरे बच्चे एक बात सदैव स्मृ रखना किसी भी
डर के कारण या किसी की गलत बातों के कारण
तुम्हें अपनी अच्छाई को नहीं त्यागना
है क्योंकि ईश्वर सदैव उनके हृदय में वास
करते हैं जिनके विचार और व्यवहार में
सच्चाई का वास होता है मेरे बच्चे तुम्हें
अपनी अच्छाई को नहीं त्यागना है क्योंकि
तुम तो वह हो जो परिणाम का विचार ना करते
हुए सदा सहायता का हाथ बढ़ाते

हो मेरे बच्चे तुम्हारा कल सर्वोत्तम है
इसलिए तुम्हें कभी किसी भी बातों का ध्यान
ना करते हुए केवल एक विचार करना
कि तुम्हारे हर एक कर्म किसी और से पहले
ईश्वर देखते हैं और वह तुम्हें तुमसे भी
अधिक जानते हैं तुमने किस दिन कौन से
कार्य किए हैं और उस कर्म का उचित फल
अवश्य ही प्राप्त

होगा मैं तुम्हें जो बताती हूं उन पर
ध्यान दिया करो क्योंकि मैं तुम्हें
तुम्हारे बारे में बताती हूं अपने बारे
में यह बात जानते हो कि तुम कौन हो मेरे
बच्चे क्या तुम जानते हो तुम्हारा
वास्तविक लक्ष्य क्या है अब जो मैं
तुम्हें बताने जा रही हूं उसे ध्यान से
समझने का प्रयास करना मेरे बच्चे
ब्रह्मांड की सभी जीवों की उत्पत्ति मुझसे
ही हुई है जब तुम अपना मूल उद्देश्य समझ
जाओगे और जब तुम अपना कर्म कर लोगे उसके
बाद सभी आत्माओं को मुझ में ही लीन होना
है सभी आ का केवल एक ही लक्ष्य है परम
तत्व के सत्य
का परंतु मेरे बच्चे मैं बहुत दुखी हूं
मेरे सभी बच्चे संसारी चका चौध में आकर
अपने लक्ष्य से भटक गए हैं मैं जानती हूं
इसके दोष तुम्हारा नहीं है तुम्हें अपना
चक्र भी पूरा करना है जिस कारण तुम अपने
कर्म चक्र में बंधे हुए
हो परंतु तुम्हें जानना बेहद आवश्यक है
तुम्हारे द्वारा किए गए पूर्व अच्छे कर्म
तुम्हें अच्छे फल देंगे वहीं दूसरी ओर यदि
तुम बुरे कर्म करोगे तो वह बुरे कर्म
तुम्हें दुख देंगे यह कर्मफल सभी जीवों को
स्वयं भोगना पड़ता है इसमें मैं स्वयं
तुम्हारी कोई भी सहायता नहीं कर
सकती किंतु मेरे बच्चे एक बहुत ही
प्रसन्नता की बात है तुम नी चेतना के
वास्तविक लक्ष्य को जानने की ओर बढ़ रहे
हो आखिर कब तक इस लोक में भटकते रहोगे
जन्म मृत्यु के चक्र में मेरे बच्चे परम
आनंद तो मेरी गोद में है मुझ में से अनंत
प्रसन्नता व्याप्त होती
है मेरे बच्चे तुम इसी पृथ्वी लोक पर रहते
हुए भी उस परम आनंद का कुछ अंश महसूस कर
सकते हो अब तुम्हें भक्ति के मार्ग पर
चलना होगा एक स्मरण करते हुए ईश्वर की
भक्ति में लीन होकर देखो तुम्हें अधिक सुख
शांति संसार की किसी भी वस्तुओं में नहीं
मिलेगी इसलिए इतना संदेह किस लिए मेरे
बच्चे क्या तुम्हें मुझ पर विश्वास है
मैंने तुम्हें कई बार यह बात कही है जब भी
तुम्हें मार्ग नजर नहीं आए तुम्हें बेचैनी
में महसूस हो तब आंखें बंद करके अपना पूरा
ध्यान नेत्रों के बीच में केंद्रित करना
और स्मरण करना तुम्हें सही मार्ग अवश्य
मिलेगा मेरे बच्चे मैं तुम्हें एक खुशखबरी
देने आई हूं जिसे जानकर तुम्हें बहुत खुशी
होगी इसलिए तुम मेरी बातों को ध्यानपूर्वक
सुनकर समझ लो जिससे कि तुम्हारे जीवन में
वह खुशी भी प्राप्त हो सके मेरा यह संदेश
अंत तक जरूर
सुनना क्योंकि यदि तुम्हें मेरा संदेश
प्राप्त हुआ है तो निश्चित ही वह खुशी
तुम्हें संदेश सुनकर प्राप्त होगी
तुम्हारी प्रार्थना को मैं सुन रही हूं
देख रही हूं मुझे ज्ञात है कि तुम्हें
क्या चाहिए तुम्हारे मन मंदिर में जो
बातें चल रही हैं वह मेरे कानों तक सुनाई
दे रही हैं क्योंकि तुम्हारी भक्ति में
बहुत शक्ति है तुम्हारी भक्ति बिना
स्वार्थ बिना कुछ मांगे तुम्हारी भक्ति है
मैं विवश हो गई हूं तुम्हारे निकट आने के
लिए और तुम्हें बताने के लिए इसलिए मेरी
बात को ध्यान से सुनना मेरे बच्चे तुम
अपने जीवन में काफी समय से कष्ट को झेल
रहे हो जिस प्रकार कांटे से भरे रास्तों
पर चलने पर कांटे चुभने पर पांव में घाव
हो जाता है
उसी तरह तुम्हारे जीवन में समस्या उत्पन्न
होने पर जख्मों से भरे दिल से उन मुसीबतों
को सह रहे हो वह सब मुझे ज्ञात है मैं
जानती हूं कि तुम उन सब जख्मों को अपने
हृदय में और शांति पूर्वक रोते हो और मुझे
हमेशा कहते हो तुम्हारी हर शाम आंखें भर
जाती हैं और तुम भरी आंखों से मुझे देखते
हो सोचते हो
कि मेरी यह परेशानी कब दूर होगी लेकिन
मेरे बच्चे मैं बताना चाहती हूं कि एक
खुशखबरी है यह परेशानी हल होने वाली
है शीघ्र ही तुम्हें इस कार्य को करते ही
तुम्हें तुम्हारी सारी परेशानियां छुटकारा
मिल जाएगा ब्रह्मांड में छुपी एक शक्ति को
पहचानो तुमको ध्यान रखना होगा कि उस प्रिय
चीज की प्राप्ति का समय बहुत नजदीक है बस
तुम्हें यह कार्य करना
है जो खुशी तुम प्राप्त करना चाहते हो
उसको प्राप्त करने में पूरी लगन और
परिश्रम उसमें लगा दो एकाग्र मन से किया
गया काम जीवन में हमेशा भर भर के खुशियां
लाता है क्योंकि मेरे बच्चे जब तक लोहा
पिघलता नहीं है तब तक वह किसी आकार में
नहीं
ढलता उसको आकार में डाल ने के लिए पानी की
तरह तपा ही होगा अर्थात तुम्हें परिश्रम
की अग्नि में खुद को पिघलाकर ही खुशी को
प्राप्त करने का सुकून मिलता है तुम्हारा
मन उसी खुशी को प्राप्त कर बहुत प्रसन्न
होगा क्योंकि जिस प्रकार थकान के बिना
बैठने का आनंद नहीं आता धूप के बिना छाव
का आनंद नहीं आता उसी प्रकार नहीं की गई
मेहनत से प्राप्त हुई खुशी का आनंद नहीं
आता यदि कोई चीज या कोई भी मंजिल बिना
परिश्रम के मिल जाएगी तो उसकी अहमियत को
कैसे
जानोगे और तुम्हें उस खुशी को प्राप्त
करना बहुत ही जरूरी है क्योंकि मेरे बच्चे
जब तक तुम खुशियां प्राप्त नहीं करोगे तब
तक तुम्हें थोड़ी परेशानी आएगी तब उस
परेशानी को झेलने की ताकत प्राप्त नहीं
होगी जिस प्रकार पढ़ने वाले बच्चे को
परीक्षा में अच्छे अंक
प्राप्त तो तब तक पढ़ने में अपना मन नहीं
लगाता कष्ट उसे जलाता है जो बहुत महान
व्यक्ति होता है इसलिए तुम्हारे जीवन में
कष्ट का महत्व बहुत बड़ा है जो परेशानियों
के कांटों को झेल करर खुशियों को पाने की
चाहत रखता है और डटकर हिम्मत से
परेशानियों का सामना करता
है
वह निश्चित ही खुशियों को प्राप्त करने का
अधिकारी होता है और उस रास्ते पर चलना भी
है क्योंकि ज्यादा सोच विचार करोगे तो तुम
कभी भी वह प्राप्त नहीं कर पाओगे जिस खुशी
की तुम सोच रखते
हो मेरे बच्चे जो बातें बताई हैं उनको
ध्यानपूर्वक सुनकर समझकर करने का प्रयास
करोगे तो तुम्हारे जीवन में निश्चित ही
खुशियों का आग मन होगा और जो इच्छा
तुम्हारी है वह पूर्ण हो जाएगी

Leave a Comment