Modi – Shah का खेल पलटा, INDIA गठबंधन NDA से आगे निकला

मोदी शाह की सारी रणनीति धरी रह गई गोदी
मीडिया के तमाम दावे धरे रह गए और इंडिया
गठबंधन एनडीए से आगे निकल गया है नामुमकिन
को मुमकिन करके दिखा दिया है बड़ी खबर
बड़ी खबर इस वक्त की यह है कि इंडिया

गठबंधन ना केवल वह एकजुट हो गया है बल्कि
सीट शेयरिंग पर भी बात फाइनल हो गई है और
अब रोजाना एक-एक करके सारे राज का ऐलान

होता हुआ चला जाएगा जो पेच फंसा हुआ था
सबसे बड़ा पेच फंसा हुआ था तीन राज्यों क
अंदर या तीन पार्टियों के साथ में उ पेच
निकल गया है और इसके साथ-साथ अब इंडिया

गठबंधन की पूरी तस्वीर साफ हो गई
है पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के साथ
में जो कहा जा रहा था कि गठबंधन होगा ही
नहीं होगा ही नहीं तो पश्चिम बंगाल में
गठबंधन तय हो गया है सीट शेयरिंग भी फाइनल
हो गई है आगे मैं आपको बताऊंगा कितनी
कितनी सीटें है उसके के बाद में उत्तर

प्रदेश में बड़ा राज्य सबसे बड़ा राज्य
सबसे ज्यादा सीटें वहां पर भी आम आदमी
वहां पर भी अखिलेश यादव के साथ में सपा के
साथ में गठबंधन भी तय हो गया है और सीट
शेयरिंग भी फाइनल हो गई है और उसके
साथ-साथ दिल्ली के अंदर गठबंधन भी आम आ

दमी
पार्टी के साथ तय हो गया है सीट शेयरिंग
भी फाइनल हो गई है और आम आदमी पार्टी के
साथ में ना केवल दिल्ली के अंदर बल्कि
पंजाब गुजरात हरियाणा यहां पर भी एक

रणनीति के साथ में गठबंधन
हुआ तो जो तीन बड़ी पार्टियां थी या तीन
बड़ी राज्य जहां पर पेच फसा हुआ था वो पेच
निकल गया है क्योंकि बिहार के अंदर पहले

से सरकार चली लालू प्रसाद यादव कांग्रेस
और नीतीश कुमार की नीतीश कुमार अलग हो गए
तो अब वहां पर पिक्चर क्लियर है कि लालू
प्रसाद यादव और कांग्रेस पार्टी एक साथ
मिलकर के लड़ेंगे तो वहां पर कोई दिक्कत

नहीं सीटों को लेकर के तेजस्वी यादव
अखिलेश राहुल गांधी की यात्रा में आए और
महाराष्ट्र में कोई दिक्कत नहीं है
महाराष्ट्र में अजीत महाराष्ट्र में अजीत
पवार निकल गए एकनाथ सिंधे निकल गए लेकिन

वहां पर उद्धव ठाकरे और शरद पवार और
कांग्रेस पार्टी एक साथ लड़ेंगे वहां पर
कोई दिक्कत नहीं है एम के स्टालिन के साथ
में तमिलनाडु में गठबंधन में कोई दिक्कत
नहीं है केवल जो पेच फसा हुआ था वह पश्चिम
बंगाल में उत्तर प्रदेश में दिल्ली
हरियाणा में पंजाब में और गुजरात में क्या
होगा इसको लेकर के पेच फसा हुआ था तो यह
पेच अब निकल गया है अब खबर देख लीजिए
उत्तर प्रदेश में 80 सीटें हैं 80 में से

सब सपा समाजवादी पार्टी प्लस में छोटी
पार्टियों के साथ में जो गठबंधन करेंगे
उनको कुल 63 सीटें दे दी गई 63 सीटों पर
समाजवादी पार्टी खुद और वह अगर दो सीट पर
चार सीट पर अगर कोई छोटी पार्टियों को
लड़ाना चाहती है तो अपने कोटे से अपने
खाते से वो उनको सीट देंगी कांग्रेस

पार्टी के पास में 17 सीट र एक सम्मानजनक
समझौता यहां पर कांग्रेस और सपा के बीच
में हो गया है 80 सीटें उतर उ प्रदेश में
इसके बाद में दिल्ली के अंदर सात सीटें है

दिल्ली में चार सीटों पर आम आदमी पार्टी
लड़ेगी तीन सीटों पर कांग्रेस लड़ेगी
देखिए दिल्ली में पिछली बार 2019 के
लोकसभा चुनाव के अगर नतीजे उठा कर के

देखेंगे तो आंकड़े यह कहते हैं कि
कांग्रेस पार्टी पाच सीटों के ऊपर दूसरे
नंबर पर थी और आम आदमी पार्टी तीसरे नंबर
पर थी लेकिन फिर भी बड़ा दिल दिखाते हुए
कांग्रेस ने यहां पर खुद तीन सीटों पर

लड़ने का फैसला किया और आम आदमी पार्टी
चार सीटों पर लड़ेगी यह समझौता हुआ है
लेकिन इसके साथ-साथ एक समझौता और भी हुआ
है आम आदमी पार्टी के साथ वह पंजाब को
लेकर के हुआ

है पंजाब को लेकर के समझौता यह हुआ है कि
पंजाब में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस अलग
अलग लड़ेंगी
क्योंकि वहां पर आम आदमी पार्टी की सरकार

है कांग्रेस पार्टी विपक्ष में है और अगर
सत्ता पक्ष और विपक्ष अगर एक साथ हो गए तो
बीजेपी केवल वहां पर फिर विपक्ष में रह
जाएगी इसलिए वहां पर आम आदमी पार्टी और
कांग्रेस अलग अलग लड़ेगी
एक सर्वे भी है उसकी भी बात आगे मैं आपको

बताऊंगा और इसके साथ-साथ जो है वह गुजरात
में कुछ सीटों पर अभी एक सीट पर भरूच की
सीट पर पीच फंसा हुआ है बाकी मामला वहां

पर भी क्लियर है हरियाणा में कुछ सीटें जो
है वो आम आदमी पार्टी लड़ना चाहती है वहां
पर भी तकरीबन तकरीबन बात फाइनल हो गई है
तो दिल्ली हरियाणा पंजाब गुजरात इसमें आम
आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस की बात फाइनल

हो गई है इसके बाद आइए पश्चिम बंगाल में
पश्चिम बंगाल में 42 सीटें हैं 36 सीट पर
टीएमसी लड़ेगी और पांच सीट पर कांग्रेस
पार्टी लड़ेगी इससे पहले तमाम खबरें चली
कि ममता बनर्जी दो सीट पर लड़ गई है
कांग्रेस की औकात दिखा दी है कांग्रेस की

औकात बता दी है तमाम चैनलों ने इधर-उधर
तमाम तरह की बातें चलाई लेकिन सब कुछ धरा
का धरा रह गया और टीएमसी और कांग्रेस के

बीच में गठबंधन हो गया है सीटें भी फाइनल
हो गई है ममता बनर्जी 36 सीटों के ऊपर और

कांग्रेस पार्टी पांच सीटों के ऊपर लड़े
तो ये तीन बड़े राज्य तीन बड़ी पार्टियां
वहां पर तस्वीर साफ हो गई है और इसके
साथ-साथ अगर आप बड़े लार्ज स्केल पर अगर
आप समझना चाहे तो आप यह भी समझ सकते हैं

कि ममता बनर्जी और कांग्रेस के बीच में
जिस तरह से तल्खी हुई थी कांग्रेस का और
ममता बनर्जी का गठबंधन बहुत नाजुक दौर में
था इसमें कोई दोराय नहीं है और यह भी माना
गया कहा गया कि गठबंधन पश्चिम बंगाल में

होगा ही नहीं किसी हालत में नहीं होगा और
कांग्रेस लेफ्ट लड़ेंगी ममता अकेले
लड़ेंगी बीजेपी अकेले लड़ेगी लेकिन अब जो
तस्वीर निकल कर के सामने आई है पहले दो
सीट पर जो वह कांग्रेस को देने के लिए
तैयार थी ममता बनर्जी पाच सीटों पर जो है

बात फाइनल हो गई है और पाच सीटों के ऊपर
ममता बनर्जी जो है वह व कांग्रेस को
लड़ाएगी और 36 सीटों पर आप खुद
लड़ेंगे तो यह गणित जो है व पश्चिम बंगाल
का है और उसके बाद में मैं आपको एक और जो

है वो खबर देता
हूं शरत शर्मा जो कि आम आदमी पार्टी को
कवर करते हैं उन्होंने ट्वीट किया है
उन्होंने सूत्रों के हवाले से खबर बताई है
कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का गठबंधन
तय हो गया है दिल्ली के अलावा दूसरे
राज्यों में भी गठबंधन हुआ है दिल्ली में

आम आदमी पार्टी चार सीटों पर लड़ेगी
जिसमें साउथ दिल्ली की सीट है नॉर्थ
दिल्ली की सीट है वेस्ट और नई दिल्ली की
सीट है यह चार सीटें आम आदमी पार्टी के
खाते में जाएंगी तीन सीटें चांदनी चौक

ईस्ट और नॉर्थ ईस्ट ये तीन सीटें कांग्रेस
के खाते में गई है गुजरात की दो सीट
कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी को दी है
जिसमें गुजरात की भरूच और भावनगर सीट आम
आदमी पार्टी के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे

लेकिन भरूच में भी मामला फंसा हुआ है भरूच
में अहमद पटेल की बेटी मुमताज वह तैयारी
कर रहे हैं उनके बेटे भी तैयारी कर रहे
हैं और वह चाहते कि परंपरागत सीट रही है
कांग्रेस की लंबे वक्त से कांग्रेस जो है
वहां पर परंपरागत तरीके से अहमद पटेल जो
सोनिया गांधी के करीबी रहा करते थे अब
नहीं है

तो वह सीट उन्हीं को दी जाए उनके परिवार
को दी जाए अब इस सीट को लेकर के आज जो पेज
फसा रहा वरना आज प्रेस कान्फ्रेंस होकर के
आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन तय

हो गया था और इसका ऐलान भी हो जाना था और
कांग्रेस पार्टी के साथ में गठबंधन को
लेकर के आम आदमी पार्टी यह भी कह रही है
कि केजरीवाल को जेल भेजा जा सकता है
क्योंकि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का
गठबंधन हो गया इसलिए ये अपने आप में बड़ी
खबर
है चंडीगढ़ की सीट आम आदमी पार्टी ने

कांग्रेस को दी है गोवा में आम आदमी
पार्टी ने साउथ गोवा की सीट पर अपना
उम्मीदवार घोषित किया था लेकिन अब आम आदमी
पार्टी सीट कांग्रेस के लिए छोड़ेगी
कांग्रेस हरियाणा की एक सीट पर आम आदमी

पार्टी को देगी पंजाब में पहले से ही
अलग-अलग लड़ने की घोषणा हो चुकी है और
मल्लिकार्जुन खड़गे जब पंजाब में गए थे
अभी कुछ दिन पहले तो उन्होंने कहा कि

अकेले लड़े चाहे साथ लड़े लक्ष्य एक है कि
नरेंद्र मोदी को रोकना है उनको हराना है
बीजेपी को हराना तो पंजाब में एक टेक्निकल
जो है वह समझौता कांग्रेस और आम आदमी
पार्टी के बीच में हुआ है अब इसके बाद में

जो है वह एक खबर मैं आपको और देता हूं जो
बड़ी दिलचस्प
है और इसको समझेंगे तो आपको जो है थोड़ी
सी और तस्वीर और बड़ी तस्वीर जो है व समझ
में आएगी
कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच में
जो इस वक्त में चल रहा है वह कहीं ना कहीं

जो है
वह बीजेपी के लिए बड़ा परेशान करने वाला
है क्योंकि सातो के साते सीट दिल्ली के
अंदर वह बीजेपी के पास में थी हरियाणा में
10 की 10 सीटें वह बीजेपी के पास में थी

गुजरात में 25 की 25 सीटें वह बीजेपी के
पास में थी तो सारी सीटें जहां पर बीजेपी
के पास थी और जहां पर विपक्ष पूरी तरह से
बिखरा हुआ था अब वहां पर अगर विपक्ष एकजुट
हो गया है तो यह मान कर के चलिए कि फिर
बड़ा नुकसान एक बीजेपी को हो सकता है और

बीजेपी को अगर नुकसान हुआ यहां पर तो
बीजेपी के लिए बड़ी मुश्किल जो है खड़ी हो
जाएगी एक मैं आपको सर्वे भी जो है व आपको
बताऊंगा कि सर्वे जो है वह भी निकल करके

सामने आया है और उस सर्वे के हिसाब से अगर
देखें तो कांग्रेस पार्टी अभी एक बड़ी
बैठक करने वाली है इस सर्वे के बाद में और
यह सर्वे जो है वह यह बता रहा है कि जो
गलती कांग्रेस ने राजस्थान में की अगर उस
गलती को ठीक कर लिया गया तो ना केवल
राजस्थान में बल्कि कई जगह पर

कांग्रेस के लिए अच्छी खबर जो है वह आ
सकती है अच्छी स्थिति जो है वह कांग्रेस
के लिए बन सकती है तो यह खबर जो है वह मैं

आपको देने जा रहा हूं कांग्रेस ने एक
सर्वे कराया है और यह सर्वे किया है सुनील
कोन गोलू ने सुनील कोन गोलू जो कि एक तरह
से प्रशांत किसर की तरह से काम करते रहे
कांग्रेस पार्टी को जो है व जीत दिलाने का
भी काम किया तो अब व अजय जहा ने ट्वीट

किया जो कांग्रेस को लंबे समय से कवर कर
रहे हैं अजय जहा ने ट्वीट करके कहा कि
कांग्रेस में शामिल हो चुके सुनील कोनू

गोलू की टीम लोकसभा चुनाव को लेकर के
देशव्यापी सर्वे कर रही है सर्वे करीब करब
पूरा हो चुका है जिसकी रिपोर्ट 15 25526
फरवरी को 2526 फरवरी को कांग्रेस नेतृत्व
को सौंपा जाएगा सुनील कोन गोलू की सर्वे
रिपोर्ट के बाद में इस महीने के आखिरी में

कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति सीईसी
की बैठक हो
सूत्रों के मुताबिक कोन गोलू के रिपोर्ट
में पंजाब के कुछ सांसद सांसदों की एंटी

इनकंबेंसी की बात कही जा रही है तो यह खबर
जो है
वह अपने आप में बहुत कुछ बताती है कि
कांग्रेस की क्या तैयारी है इस वक्त में
और कांग्रेस डीप लेवल पर जो है वह गहराई
से लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रही और
देखिए एक तस्वीर आप और देखिए कल ही

प्रियंका गांधी
प्रियंका गांधी व शामिल होंगी भारत जोड़ो
यात्रा के अंदर और भारत जोड़ो यात्रा में
प्रियंका गांधी शामिल होंगी तो उसके बाद
में क्या कुछ माहौल बनेगा यह भी अपने आप

में देखने वाली बात होगी और अब इंडिया
गठबंधन में जो है व तस्वीर भी साफ हो चुकी
है तो अखिलेश भी अब शामिल होंगे मुरादाबाद
के अंदर प्रियंका शामिल हो रही है तो
प्रियंका का एक अपना जो है वो क्रेज है
उत्तर प्रदेश में काफी लंबे वक्त तक
उन्होंने काम किया लेकिन सफलता नहीं मिल

पाई विधानसभा चुनाव के अंदर यह बात
बिल्कुल सही है लेकिन अब लोकसभा चुनाव में
क्या कुछ उसका असर या उसका जो उधार है वह
प्रियंका गांधी को कुछ मिल पाएगा प्रियंका
गांधी कांग्रेस पार्टी को दिलवा पाएंगी यह
अपने आप में बड़ा सवाल है लेकिन जिस तरह

से तस्वीर निकल कर के सामने आ रही है वह
बीजेपी के लिए खासी मुसीबत पैदा कर रही है
और बीजेपी के लिए मुसीबत अब इस वक्त में
यह है कि अभी तक जो अलग-अलग प्लेयर के
जरिए यह देखा जा रहा था कि इंडिया गठबंधन
एक नहीं है इंडिया गठबंधन में टकराव है
इंडिया गठबंधन में जो है वो अलग-अलग
तस्वीरें उभर करके सामने आ रही है

केजरीवाल और जो है वो कांग्रेस में बात
नहीं बन पा रही है ममता बनर्जी और
कांग्रेस में बात नहीं बन पा रही है
अखिलेश यात्रा में शामिल नहीं हो रहे हैं
ये सारी बातें जो थी वो सारी बातें पीछे

छुट गई है और अब ताजातरीन तस्वीर यह है कि
इंडिया गठबंधन जो अभी तक बिखरा बिखरा सा
नजर आ रहा था वो अब बड़ी मजबूती के साथ
में और सीट शेयरिंग को लेकर के तेजी के
साथ में काम करता हुआ एनडीए से आगे निकल

रहा है एक बात बिल्कुल सही है कि नीतीश
कुमार इस एनडीए गठबंधन इंडिया गठबंधन से
निकल गए जयन चौधरी निकल गए हैं शामिल नहीं

हुए हैं घर से निकल पड़े हैं ट्रेन मिलेगी
कि ट्रेन छुट जाएगी वो पता नहीं है अक्सर
लोगों की ट्रेन छुट भी जाया करती है और जो
लोग ज्यादा मस्त होकर के चलते हैं उनकी
अक्सर छूट जाया करती है तो जैन चौधरी अभी
तक जो है वो ट्रेन की टिकट जो है वो हाथ
में जरूर है लेकिन ट्रेन तक पहुंच नहीं
पाए हैं तो जैन चौधरी निकले हैं लेकिन जैन
चौधरी का
निकलना वह बीजेपी के लिए कितना जो है
फायदेमंद होगा या यह किसान आंदोलन का क्या

असर रहेगा किसानों का जो है वह क्या होता
है समाधान होता है कि नहीं होता है और अगर
वह नहीं हुआ तो फिर वह जो बेल्ट है जवन
चौधरी का जो जहां पर प्रभाव माना जाता है

वहां पर जो है वह फिर नुकसान भी हो सकता
है तो यह अपने आप में बड़ी खबर है लिहाजा

आप देखना यह है कि राहुल गांधी की यात्रा
अब करीब करीब जो है 10 से 15 मार्च वो
खत्म होगी उसका क्या असर रहता है कितना जो
है अपने साथ में क्रेज राहुल गांधी जो है

वो ला पाते हैं उसके साथ-साथ जो है वो
इंडिया गठबंधन की जो बड़ी रैलियां होनी है
बताया जा रहा है कि 3 मार्च को एक बड़ी
रैली तेजस्वी यादव के साथ में राहुल गांधी
की होने वाली है अखिलेश सब साथ आ ही रहे
हैं तो यह सारी तस्वीर और फिर उसके बाद

में 10 मार्च के बाद में जब यात्रा खत्म
हो जाएगी तो बड़ी रैलियों का जो दौर होगा
तो उसमें क्या कुछ निकल कर के सामने आएगा
वाकई देखना दिलचस्प होगा और ऐसे में ऐसे
में सबसे बड़ा सवाल यह कि

बीजेपी इंडिया गठबंधन से कैसे निपटे गी और
अभी तक जो दिख रहा था कि 400 पार 400 पार
अगर वाकई सही से सीट शेरिंग हो गया और सीट
शेरिंग होने के बाद में सही उम्मीदवार
उतार दिए
गए बगावत नहीं हुई अंदर खाने और वोट सही
तरीके से ट्रांसफर हो गया तो फिर 400 तो
बहुत दूर की बात हो जाएगी बीजेपी के लिए
बहुमत हासिल करना हो सकता है कि उसमें भी
पच फस जाए बहरहाल आप बताइए आप क्या सोचते

हैं नीचे कमेंट बॉक्स में अपनी राय लिख कर
के जरूर बताइए इस वीडियो को खूब शेयर
कीजिए लोगों तक पहुंचाए और इसी तरह की
तमाम खबरों के लिए ऑनलाइन न्यूज इंडिया को
सब्सक्राइब कीजिए आपका बहुत-बहुत
धन्यवाद

Leave a Comment