Muzaffarnagar में UP STF को मिली बड़ी कामयाबी, खबर देख चौंक गए सब

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में यूपी
एसटीएफ को बड़ी सफलता मिली है दो आरोपियों
को चार टाइमर बम के साथ गिरफ्तार किया गया

है यूपी एसटीएफ की ओर से खुफिया सूचना के
आधार पर यह बड़ी कारवाई की गई है इस
कार्यवाही में चार देसी टाइमर बम के साथ
दो आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं अब जांच

शुरू हुई है टाइमर बम को किस उद्देश्य से
लाया गया था इस मामले की जांच चल रही है
यूपी एसटीएफ ने जावेद समेत दोनों आरोपियों

को गिरफ्त में लेकर पूछताछ भी शुरू कर दी
है आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले
मुजफ्फरनगर से यह बड़ा मामला है यूपी
एसटीएफ ने इसमें बड़ी सफलता हासिल की है

चुनाव से पहले संभावित आतंकी हमले को
नाकाम किए जाने का दावा किया जा रहा है
वहीं पकड़े गए जावेद ने भी बड़ा खुलासा कर
दिया है कि यह टाइम बम एक महिला ने मंगवाए

थे और यह महिला अब तक फरार है यूपी एसटीएफ
दोनों आरोपियों से पूछताछ में जुट गई है
कि आखिर वह महिला कौन है जिसने टाइमर बम
का ऑर्डर दिया था इसकी जांच चल रही है
पिछले दिनों राज्य में लगातार हो रहे

घटनाक्रम को लेकर इन बमों को संदेह के
नजरिए से देखा जा रहा है दरअसल राम मंदिर
के उद्घाटन और ज्ञानवापी में व्यास जी के

तहखाने में हिंदुओं को पूजा का अधिकार
मिलने के बाद से लगातार माहौल गर्मा रहा
है वहीं उत्तराखंड में यूनिफॉर्म सिविल

कोड लागू एक्ट को विधानसभा से पास किए
जाने के बाद भी आक्रोश और ज्यादा बढ़ गया
हलद्वानी के बनभूलपुरा में 8 फरवरी को जिस
प्रकार से हिंसा के मामले सामने आए उस
प्रकार की स्थिति कहीं मुजफ्फरनगर में
दोहराने की कोशिश तो नहीं हो रही दूसरी

तरफ राष्ट्रीय लोकदल के भाजपा से जुड़ने
के बाद भी स्थिति लगातार गरमा गई है ऐसे
में भूल पुरा हिंसा जैसी स्थिति उत्पन्न
करने की कोशिश की भी चर्चा शुरू हो गई है

यूपी एसटीएफ तमाम ऐसे पहलुओं की जांच कर
रही है इस पूरे मामले पर नए एडीजी लो एंड

ओटर ने भी जानकारी दी मुजफ्फरनगर में दो
अभियुक्तों को गिरफ्तार कर चार आईडी इनसे
बरामद की गई है यह
सभी टाइमर अथवा रिमोट कंट्रोल से ट्रिगर
की जा सकती

है यह जानकारी प्राप्त हुई है कि जिन
लोगों ने इस बम को बनाया है जो गिरफ्तारी
हुई है उन लोगों ने मुजफ्फरनगर दंगों के
समय भी इस प्रकार के बम बना कर के बांटे
थे सर इनका अन्य कोई बड़े संगठन से इनका
इन सभी इन दोनों अपराधियों से पूछताछ की

जा रही है और जो भी जानकारी सामने आएगी उस
पर आगे कारवाई की आपको बता दें कि जावेद
ने पूछताछ में कबूल किया कि बम खालापार
इलाके में ही रहने वाली एक महिला ने ऑर्डर
देकर बनवाए थे टीम महिला की तलाश में चुटी

है एसटीएफ के एसपी बृजेश कुमार सिंह ने
बताया कि इससे पहले भी ये टाइम बम बना
चुका था आरोपी की ननिहाल नेपाल में है

उसका भी आना जाना रहता है इससे पहले जावेद
रेडियो बनाने का भी काम करता था जावेद के
दादा का पटाखे बनाने का काम था उसने दादा
से बम बनाना सीखा इसके बाद धि के माध्यम
से उसने आईईडी बम बनाना सीख लिया आरोपी से

पूछताछ में कई और जानकारियां मिल सकती हैं
फिलहाल इंटेलिजेंस ब्यूरो और एटीएस की
टीमें भी जावेद से पूछताछ कर रही हैं और
एक बड़ी अनहोनी होने से बचा ली गई है तो
आप भी इस वीडियो को शेयर कीजिए और जुड़े

रहिए हेडलाइंस इंडिया के
साथ

Leave a Comment