PM Modi Abu Dhabi Hindu Temple Inauguration: UAE मंदिर पर रिजवी ने किया बड़ा दावा! | Modi UAE Visit

क्या मायने है यूआई के अंदर इस मंदिर बनने
के मैं आपसे समझना चाहूंगा आप मिडिल ईस्ट
के जानकार है आपने सालों वहां काम किया
है जी देखिए दीपक जी जो मिडिल ईस्ट में यह
बहुत बड़ा बदलाव आया है भारत के प्रति
उनकी जो एक कहते नहीं कि प्यार बड़ा है

वहां के लोगों का चाहा की हुकूमत हो
हुक्मरान हो और तो और वहां के आम लोगों
में बढ़ा

पहले नहीं हुआ था इससे पहले होता क्या था
कि वहां पर आप य मंदिर तो छोड़ दीजिए छोटी
सी कोई अपनी किताब या हनुमान चालीसा की
छुपा के ले जाता था इन्हीं मुल्कों की बात

कर रहा हूं तो पकड़ लिया जाता था गलती से
निकल आती थी वापस भेज दिया जाता था और आज
यह टाइम आ गया है कि वहां पर इस्लामी
कंट्री के अंदर आप देख लीजिए कि मंदिर बन

प्रधानमंत्री जा रहे हैं और यह बदलाव ये
समझिए इस 1400 साल के अंदर पहली बार हो
रहा है ये जो इस्लाम के आने बाद से यह
पहली बार होना शुरू हुआ है इसी दौर की जो
भी जो शारजा के पास और दुबई के पास जो

मंदिर बना वो भी अभी का बना हुआ है बेहरेन
का भी इसी दौर का बना कोई पुराना मंदिर
नहीं है यह 1400 साल में कभी नहीं हुआ है
यह तो हमारे भारत के मुसलमानों को समझना
चाहिए और खुश होना चाहिए हम तो बहुत खुश
हैं भाई हम तो उन सबको मुबारकबाद देना

चाहते हैं जो उसमें शामिल हुए इस मिशन के
अंदर और यह बहुत बड़ी बात है कि उन्होंने
कह दिया कि आप उंगली रख दीजिए लकीर खींचिए

वो जमीन आपकी आप सोचिए कि वो लोगों के दिल
में कितनी मोहब्बत है हिंदुस्तानियों के
लिए और उनके धर्म के लिए मैं यहां पे
इस्लाम या मुसलमान की बात ही नहीं कर रहा
हूं हिंदू धर्म के लिए या सनातन के लिए
कितना आदर है कि उन्होंने कहा कि आप मंदिर
यहां बनाइए उन्हें कोई तराज नहीं लेकिन हम

लोग बहस करने से मानते नहीं है हम लोग इसी
बात पे नाखुश हुए जा रहे हैं कि वहां
मंदिर क्यों बन रहा है मतलब यह सोच क है
और मैं आपको एक चीज बताऊं कि जहां पे
मंदिर आप य देख लीजिएगा बहुत ही जल्दी
सऊदी अरेबिया में भी मंदिर बनना जा रहा है

आप मेरी बात को नोट कर लीजिए उस पर पहल हो
चुकी है सऊदी अरब ऐसी जगह जहां पे बहुत ही
हार्ड कोर और बहुत ही सख्त मुसलमान वो दौर
में मैंने वहां देखा है कि बस पूछे मत
हिंदी हिंदुस्तान के साथ क्या सलूक होता
था लेकिन जब से प्रिंस सलमान आए वहां की
हवाई बदल गई वहां की बयार बदल गई अब देखिए
क्या हो रहा है कि वहां पर रामायण और

महाभारत का वहां पे पढ़ाने की हो गई है कि
वहां प पढ़ाया जाएगा यूनिवर्सिटी के अंदर
कि रामायण महाभारत ये क्या है ये इतिहास
के तौर पर पढ़ाया जाएगा धर्म की किताब के
नाम पर नहीं पढ़ाया जाएगा उसके लिए
प्रोफेसर पॉइंट किया जा रहे हैं जा रहे व
पढ़ाने के लिए तो ये बदलाव मिडिल ईस्ट का
मैंने नहीं देखा और यह जो मत जो हो रहा है
यह अजूबा है इस सेंचरी का अजूबा यकीन

नहीं सकता था जब हो रहा है और इसमें मोदी
जी का बहुत बड़ा रोल है अब यहां लोगों को
बुरा लग जाएगा मैं नाम ले रहा हूं इन्हीं
के दौर में हु इससे पहले तो कभी हुआ नहीं

आप लोग
य कुशी जी पूछ लेते दानिश कुरेशी जी आज तो
मोदी जी को बधाई दे दीजिए थोड़ा राजनीति
से ऊपर उठ जाइए बधाई दे दीजिए दानी जी
दानेश्वर बनी आज भारत के लिए सनातन
परंपराओं के लिए सनातन पूजा पद्धति के लिए
सनातन मान्यताओं के
लिए सनातन आध्यात्मिक शक्ति के लिए अरे
सुनिए
देखिए अच्छा सु सुनिए तो मैं आपको एक बात
बताऊं मैं पहले भी कई बार हम बात कर चुके
हैं दीपक भाई और मैं फिर आपको दोहरा रहा
हूं कि हमारे यहां का भारत की जो पहचान है
पूरी दुनिया में वो किसी एक वर्ग एक टेनर
के जो प्रधानमंत्री है उनकी बदौलत नहीं है
मुसलसल आज तक जिन दे जो भी प्रधानमंत्री
रहे
उन्हों जिस तरीके र चाहे मिडस्ट या दुनिया
के रख क्यों नहीं हो गया ये भी समझा दीजिए
नी जी 10 साल तो असदन ओसी यी व और यूपी
सरकार के समर्थक थे ओवैसी साहब जाते वहां
पर और बोलते कि जमीन दे दीजिए 27 एकड़ तो
एक मिनट में दे देते नाया साहब तब तो
मुस्लिम ब्रदरहुड का मामला होता ना उमा का
मामला होता बिल्कुल ग
नहीं नहीं जमीन मांगी मंदिर के
लिए सुनिए तो आप सु सुनेंगे नहीं मैं तो
यह कह रहा हूं कि बिल्कुल सही कह रहे हैं
आप आप मुझे यह बताइए कि वो देश की
प्रधानमंत्री पद का ही वो अकार है सारी
दुनिया के अंदर में कि वो अमेरिका जिसने
मोदी
जी नकार दिया आज इसलिए उनको वेलकम कर रहा
है क्योंकि देश के प्रधानमंत्री तो उन
चीजों को आपको मानना पड़ेगा कि 47 से लेकर
अभी तक जि जिस भी तरीके के प्रधानमंत्री
है उनका काम है दूसरे नंबर की बात जो
मैंने कहा कि बहुत अच्छी बात है किया करना
चाहिए कोई परेशानी नहीं है लेकिन कम से कम
देश के किसानों से भी जाकर जाके एक बार
मिल लेते वहां तक दो अबू धाबी तक चले गए
तो यहां भी मिल
लेते
सम ही नहीं आ रहा क्या ज्ञान ले सिकंदर
साहब कुछ कह रहे हैं एक मिनट भाई सुन
लीजिए सिकंदर साब ले बै के पास कुछ भी
नहीं है कहने को सिकंदर साहब के पास कु
नहीं आपके पास टॉपिक ही नहीं है ना आप लोग
पढ़े लिखे नहीं है मुझे लग रहा इस तरह बात
करर आप किसानों को लेके चले आए हम
इंटरनेशनल बात कर रहे हैं हम बात कर रहे
अबू धाबी की प्रधानमंत्री वहां गए हुए हैं
सारे लोग खुश हो रहे हैं आपके पे दर्द हो
रहा आप किसानों के रहे बता उली कर आप गलत
बात कर रहे हैं ये आपका टॉपिक नहीं है आप
जरा दिमाग का इस्तेमाल करिए ना आप
मनी देख मोदी साहब हमारे प्राइम मिनिस्टर
है प्राइम मिनिस्टर है उनके पीछे खड़ा
रहूंगा ध्यान रखिएगा आप आप लोग को
प्रॉब्लम है आप लोग प्रॉब्लम है कुछ चंद
लोग है आप उ हो लोगों में आप हो आप हो
आपकी पार्टी है आपके लीडर है चंद लोगों
केर आप लोग जो है ना आपके पेट में दर्द
होता है चाते नहीं कुछ अच्छा
हो अच्छा द जी जी गुस्सा मत होए आप गुस्सा
होते आपकी आवाज कट जाती है मैंने कई बार
आपको समझाया आप गुस्सा होते हैं आपका
वीडियो चला जाता है ऑडियो चला जाता है सब
बीजेपी की साजिश है लेकिन मुझे बताइए ना
मुझे बताइए दानिश भाई एक बात बताइए एक बात
बताइए एक बात सिर्फ एक बात बताइए सिर्फ एक
बात बताइए सिर्फ एक बात बताइए सिर्फ एक बा
सिर्फ एक बात
बताइए दानिश भाई आज मोदी जी को बधाई तो दे
दीजिए प्रेम शुक्ला जी को बधाई दे दीजिए
कि यूएई में जहां पर इतना बड़ा मुस्लिम
वर्ल्ड का इतना बड़ा देश जो अगुवा है व
ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कॉपरेशन में
वहां पर एक 27 एकड़ में हिंदू मंदिर बन
रहा है सनातन के सब प्रतीक वहां पर है
गंगा यमुना सरस्वती का संगम है बधाई दे
दीजिए प्रेम शुक्ला को इसके लिए अरे
राजनीति से ऊपर उठिए बधाई दीजिए प्रेम
शुक्ला जी को सुनि अरे दीपक भाई बधाई
भारतीय जनता पार्टी को क्यों बधाई देश के
जो धर्म गुरु है हिंदू धर्म के उनको होनी
चाहिए इसको क्यों होनी चाहिए भाई वो तो
राजनीतिक व्यक्ति है मोदी जी तो या प्रेम
शुक्ला जी राजनीतिक व्यक्ति है जिन लोगों
ने इसके लिए धर्म के आधार पे काम किया है
उनको बधाई होनी चाहिए बधाई तो सवाल मोदी
जी से ये होना चाहिए कि देश का किसान
एमएसपी के लिए किसान का मोर्चा खोल के रखा
है और आप वहां पहुंचे हैं ये प्रॉब्लमैटिक
है इस पे सवाल होना चाहिए

Leave a Comment