UAE Temple Inauguration : हिंदू मंदिर देख बौखलाए Muslims, किया ऐलान | PM Modi UAE | Abu Dhabi | BAPS

यूएई में पीएम मोदी के शानदार स्वागत और
भव्य हिंदू मंदिर निर्माण के बाद
पाकिस्तान से लेकर मुस्लिम चरण पंथ की

बौखलाहट अब देखने लायक है यूएई जैसे
मुस्लिम देश में इतने भव्य हिंदू मंदिर के

निर्माण के बाद सोशल मीडिया में मुस्लिम
चरमपंथी लोग अपनी भड़ास निकाल रहे हैं
सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर एक यूजर
ने लिखा कि अरब देशों में भी मूर्ति पूजा

मतलब अब अरब भी हिंदुत्व को अपना सकता है
वहीं एक दूसरे यूजर ने लिखा कि अरब देशों
में मूर्ति पूजा प्रलय का दूसरा मानवीय

रूप है आपको बताएं तो बीते कुछ दिन पहले
ही पाकिस्तानी जनता से जब यूएई के हिंदू
मंदिर को लेकर सवाल पूछे गए थे तब
उन्होंने भी इसे भारत की एक बड़ी रणनीतिक
जीत बताया था पाकिस्तानी जनता ने इसको

लेकर पीएम मोदी और भारत की जमकर तारीफ की
थी इस बीच सोशल मीडिया में एक और यूजर ने
लिखा कि इसलिए अब मुस्लिम नेताओं की ओर से
अर्जेंटीना के उस नेता पर कोई बयान नहीं
आया था जिसमें वह अल अक्सा मस्जिद को ढा

नेता शैतान की पूजा करने वाले हैं यहूदी
समर्थक और दज्जाल समूह का हिस्सा है आपको
बताएं तो अब से कुछ दिन पहले ही अयोध्या
में भी श्रीराम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा
का कार्यक्रम हुआ जो ना केवल भारत बल्कि

पूरी दुनिया में चर्चा का विषय रहा ऐसे
में पहले राम मंदिर और अब यूएई में हिंदू
मंदिर को देखते हुए
हिंदू कट्टरपंथियों को भी अपने विवेक की

खोज करनी चाहिए और कट्टरता की समाप्ति के
लिए आगे आना चाहिए मुसलमानों के मस्जिदों
को तोड़ने का सिलसिला छोड़ना चाहिए ध्यान
देने वाली बात यह है कि यूएई के मंदिर

उद्घाटन समारोह को भारत के लोग जितना
सेलिब्रेट कर रहे हैं उतना ही यूएई की
सरकार में भी पीएम मोदी के दौरे और मंदिर
उद्घाटन समारोह को लेकर उत्साह और खुशी
देखने को मिल रही है ऐसे में मुस्लिम

चरमपंथियों को यह सब कुछ बिल्कुल भी रास
नहीं आ रहा है सोशल मीडिया में अपनी भड़ास
निकालते हुए एक यूजर ने लिखा लिखा कि
इस्लामिक देश इस तरह के इवेंट को क्यों
सेलिब्रेट कर रहे हैं एक अन्य यूजर ने
लिखा कि वाह वो आपकी मस्जिदों को तोड़ रहे

हैं और आप उनके लिए मंदिरों का निर्माण कर
रहे हैं उन लोगों को शर्म आनी चाहिए
जिन्होंने इस मंदिर निर्माण की अनुमति दी
है और फंडिंग की है आपको बताएं तो पीएम

मोर्दी के यूएई दौरे के दौरान ना केवल
हिंदू मंदिर का उद्घाटन होने जा रहा है
बल्कि इस दौरान यूएई और भारत के बीच भी कई
द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं

आने वाले समय में दोनों देशों के रिश्तों
को मजबूत करने के लिए कई अहम कदम उठाए गए
हैं ऐसे में खाड़ी मुस्लिम देशों के साथ
भारत जिस रणनीति के साथ आगे बढ़ रहा है

हैं साजि तरार ने कहा कि आजादी के बाद
पहले पीएम नेहरू ने भारत की विदेश नीति को
तय किया और दुनिया ने उसको माना भी उसके
बाद दूसरे नेताओं ने उसे खत्म ना करके आगे
बढ़ाया और इसी का नतीजा है कि आज भारत अरब
देश हो या फिर यूरोप सब जगह उसकी एक अलग
पहचान है वह रूस और अमेरिका दोनों के साथ
डील कर रहा है लेकिन पाकिस्तान विदेश नीति

के मामले में बिल्कुल फेल है इसके पास कोई
ऐसा नेता नहीं है जो अपनी एक पकड़ या
पहचान दुनिया में रखता हो जानकारी के लिए
आपको बताएं तो इसके पहले भारत और खाड़ी
देशों के बीच रिश्ते इतने मजबूत नहीं रहे

हैं लेकिन 2015 के बाद प्रधानमंत्री मोदी
के यह सबसे अहम एजेंडे में से एक था 2015
से लेकर अब तक पीएम मोदी सात बार यूएई का
दौरा कर चुके
हैं

Leave a Comment