UP Board Class 12th Paper Leak मामले में 2 आरोपी Arrest, क्या दोबारा होगा Board Exam?

यूपी बोर्ड पेपर लीक मामले में पुलिस को
बड़ी सफलता मिली है मामले में पुलिस ने दो
आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि मुख्य

आरोपी अभी भी फरार है बता दें कि 29 फरवरी
गुरुवार को यूपी बोर्ड इंटर का बायोलॉजी

और मैथ का एग्जाम था लेकिन एग्जाम से कुछ
घंटे पहले ही पेपर लीक हो गया मामले में
पुलिस ने अब सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर

राजेंद्र सिंह उर्फ हुडा और एडिशनल सेंटर
एडमिनिस्ट्रेटर गंभीर सिंह को गिरफ्तार

किया है जबकि पीपर लीग घटना का मुख्य
आरोपी विनय चौधरी अभी भी फरार है विनय
चौधरी कॉलेज में कंप्यूटर ऑपरेटर का काम
देखता है वह कॉलेज प्रबंधक का बेटा भी है

पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार दविश
दे रही है ऐसे में यह सवाल उठ रहे हैं कि
क्या यूपी बोर्ड 12वीं के बायोलॉजी और मैथ
के एग्जाम फिर से होंगे चलिए आपको इस

वीडियो में बताते हैं नमस्कार मैं हूं
अदिति श और आप देख रहे हैं न्यूज नेशन
डिजिटल बता दें कि पेपर लीग का यह मामला
अंतर सिंह इंटर कॉलेज रजौली आगरा का है

दरअसल 29 फरवरी को सेकंड शिफ्ट में दोपहर
2 बजे से शाम 5:1 तक इंटरमीडिएट के
बायोलॉजी और मैथ की परीक्षा हुई सेकंड
शिफ्ट की परीक्षा 2 बजे शुरू हुई सभी

परीक्षार्थी अपने-अपने परीक्षा केंद्रों
पर एग्जाम दे रहे थे 3:1 पर ऑल प्रिंसिपल
आग्रा ग्रुप पर विनय चौधरी ने बायोलॉजी और
मैथ का पेपर ग्रुप में शेयर किया बायोलॉजी

के पेपर का कोड 368 जीएल और सीरियल 153 था
इसके अलावा मैथ के पेपर का कोड 324 एफसी
था पेपर के सभी पन्नों को ग्रुप में डाला

गया ग्रुप में माध्यमिक शिक्षा विभाग के
अधिकारी प्रधानाचार्य और शिक्षक समेत 900
लोग जुड़े हुए थे पेपर लीक होने के बाद एक
व्यक्ति ने ग्रुप पर लिखा यह क्या हो रहा
है पेपर लीक हो गया क्या इसके बाद
क्वेश्चन पेपर को डिलीट कर दिया गया और
आरोपी ग्रुप से लेफ्ट हो गया पेपर लीक
होने की खबर माध्यमिक शिक्षा परिषद के

सचिव को दी गई इस मामले में डीआईओएस दिनेश
कुमार की ओर से सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर उसके
बेटे कंप्यूटर ऑपरेटर विनय चौधरी और अन्य
के खिलाफ तहरीर दी गई है शुरुआती जांच में

यह भी माना जा रहा है कि पेपर की फोटो
खींचकर किसी और व्यक्ति को या फिर ग्रुप
में डालने की मंशा भी हो सकती है जो गलती
से प्रिंसिपल

whatsapp2 जोन सोनम कुमार ने बताया है कि
इस केस में चार नामजद के खिलाफ मुकदमा
दर्ज किया गया है श्री अतर सिंह इंटर
कॉलेज के प्रबंधक राजेंद्र सिंह उर्फ हुडा
और केंद्र एडमिनिस्ट्रेटर गंभीर सिंह को

गिरफ्तार किया गया है उनके बेटे विनय
चौधरी ने पेपर वायरल किया था वह अभी फरार
है उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही
है फिलहाल पेपर लीक होने के बाद परीक्षा
केंद्रों की चाक चौ बंध व्यवस्थाओं पर

सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं परीक्षा
केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे केंद्र
व्यवस्थापक और सेट्री मैजिस्ट्रेट की

तैनाती के बाद भी एक साथ बायोलॉजी और मैथ
का पेपर लीक हो गया इससे पहले 18 फरवरी को
यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का भी

 

पेपर लीक हुआ था जिसके बाद यूपी पुलिस
कांस्टेबल भर्ती परीक्षा को रद्द कर का
फैसला लिया गया अब यूपी पुलिस परीक्षा

अगले 6 महीने में होगी लेकिन यूपी बोर्ड
12वीं के बायोलॉजी और मैथ के एग्जाम फिर
से होंगे या नहीं इस बात को लेकर के
फिलहाल कोई जानकारी सामने नहीं आई है खैर
यह वीडियो आपको कैसा लगा इस वीडियो पर
आपकी क्या राय है कमेंट बॉक्स में जरूर

बताइएगा देखते रहिए न्यूज नेशन डिजिटल
मेरे यानी अदिति शाह के साथ
शुक्रिया

Leave a Comment